जल्द ले पाएंगे देहरादून-मसूरी रोप-वे का आनंद

CM Photo 06, dt.08 February, 2016मसूरी के हाथी पांव/जार्ज एवरेस्ट क्षेत्र को पीपीपी मोड पर ईको फ्रेंडली के तौर पर विकसित किया जाएगा। इस परियोजना पर कुल 180 करोड़ रूपए का खर्च आएगा और ये परियोजना तीन वर्ष में बनकर तैयार हो जाएगी। देहरादून में सोमवार को मुख्यमंत्री हरीश रावत की अध्यक्षता में ईजीएम की बैठक में इस पर फैसला लिया गया। साथ ही बैठक में पर्यटन विभाग की पुरकल गांव (देहरादून)-हाथी पांव (मसूरी) रोप वे परियोजना तथा आवास विभाग की इन्दिरा मार्केट पुनर्विकास परियोजना प्रस्ताव पर चर्चा हुई। पर्यटन विभाग की पुरकल गांव (देहरादून)-हाथी पांव (मसूरी) रोप वे परियोजना के प्रस्ताव पर चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री रावत ने निर्देश दिये कि इस योजना पर शीघ्र कार्य शुरू किया जाए। साथ ही ऐसे प्रयास किए जाएं, जिससे पर्यटन गतिविधियों को अधिक अवसर मिले। इस परियोजना के शीघ्र पूरा होने से मसूरी पर परिवहन के दबाव को कम किया जा सकेगा।

ईजीएम की बैठक में आवास विभाग की इन्दिरा मार्केट पुनर्विकास परियोजना प्रस्ताव पर चर्चा हुई। मुख्यमंत्री रावत ने निर्देश दिये कि इस परियोजना के लिए एक बार फिर से प्रभावित दुकानदरों से बात करने के साथ ही उनके सुझाव भी लिए जाएं। रावत ने कहा कि यह परियोजना इन्दिरा मार्केट के प्रभावित दुकानादारों के हित में है। प्रभावित दुकानदारों को बेहतर सुविधा मिले, इसके लिए परियोजना में पूरी व्यवस्था की करने के भी निर्देश रावत ने अधिकारियों को दिए

बैठक में एम.डी.डी.ए. आर.मीनाक्षी सुन्दरम ने बताया कि इन्दिरा मार्केट पुनर्विकास परियोजना घंटाघर क्षेत्र में स्थित वर्तमान इन्दिरा मार्केट के दुकानदारों को एक काम्पलैक्स में स्थापित करके इस क्षेत्र में शॉपिंग काम्पलैक्स एवं पार्किग सुविधा का सृजन किया जाना है। परियोजना की अनुमानित लागत 106 करोड़ रुपये है।