निर्माण कार्यो में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए

349

IMG_0107जिला योजना के अन्तर्गत स्वीकृत धनराशि का तय समय सीमा के अन्दर खर्च करने के साथ ही निर्माण कार्यो में गुणवत्ता का विषेष ध्यान रखा जाय। यह निर्देष जनपद के प्रभारी सचिव/सचिव वित्त एवं आपदा अमित सिंह नेगी ने देर रात तक सर्किट हाउस में चली बैठक में अधिकारियों को दिये। उन्होंने अधिकारियों को कड़े निर्देष दिये कि तय समय सीमा में स्वीकृत धनराषि खर्च न किये जाने पर सम्बन्धित विभागाध्यक्षों के विरूद्व आवष्यक कार्रवाही की जायेगी। सचिव ने विषेषकर निर्माण कार्यो से जुड़े विभागों की स्वीकृत धनराषि के सापेक्ष अपेक्षित धनराषि खर्च नहीं किये जाने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुये अधीक्षण अभियन्ता लोक निर्माण विभाग के स्पष्टीकरण लेने के आदेष जिलाधिकारी को दिये।

उन्होंने एन0टी0डी0 से धार की तूनी तक निर्मित सड़क की गुणवत्ता के जाच के निर्देष भी दिये और कहा की जाच उपयुक्त पाये जाने पर ही सम्बन्धित ठेकेदार को भुगतान किया जाय। सचिव ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देष दिये की योजना बनाकर जनपद में महत्वपूर्ण एवं बड़ी योजनाओं का चयन करेगे और प्रत्येक माह में अधीक्षण अभियन्ता इन योजनाओं का स्वयं निरीक्षण करेंगे तथा इसकी रिपोर्ट जिलाधिकारी को प्रस्तुत करेंगे इस दौरान उन्होंने जनपद में संचालित निर्माणाधीन योजनाओं की विस्तृत जानकारी प्राप्त की और निर्देष दिये की जो भी मोटर मार्ग बनाये जा रहे उनमें गुणवत्ता के साथ-साथ शहरी क्षेत्रों एवं तहसील मुख्यालयों पर्यटकों  को आकर्षित करने के लिये साइन बोर्ड फुटपाथ एवं पक्की नालियों की व्यवस्था अवष्य रूप से कर ले। सचिव ने जिलाधिकारी को निर्देष दिये की जो भी बड़ी योजनायें निर्माणाधीन है उनका समय-समय पर मुख्य विकास अधिकारी एवं उप जिलाधिकारियों के माध्यम से भी गुणवत्ता की जाच सुनिष्चित कराई जाय।

सचिव ने कसार देवी एवं मोहान को टूरिजम एरिया के रूप में विकसित करने के साथ पर वहां स्थानीय युवाओं को टूरिस्ट गाइडों के रूप में प्रषिक्षित कराने हेतु कार्यक्रम चलाने के निर्देष जिला पर्यटन विकास अधिकारी को दिये। उन्होंने वन विभाग के अधिकारियों को निर्देष दिये की सिमतोला ईको पार्क की तरह ही कसार देवी क्षेत्र को भी एक ईको पार्क के रूप में विकसित करने की कार्ययोजना बनाये। उन्होंने कहा की जनपद में अनेक ऐसे स्थान है जहा पर बहुत पर्यटक आते है उन्हें भी और अधिक विकसित किया जाय। पेयजल एवं जल निगम की समीक्षा के दौरान उन्होंने अधिकारियों को निर्देष दिये की जनपद में जो भी पम्पिंग योजनाये निर्माणाधीन है उन्हें समय से पूर्ण कर लिया जाय। उन्होंने अधीक्षण अभियन्ता पेयजल निगम को इन निर्माणाधीन योजनाओं का समय-समय पर निरीक्षण करने निर्देष दिये। कृषि एवं उद्यान की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा की जहां पर भी पाॅलीहाउस की मांग आती है उन्हे समय से पाली हाउस प्रदान किये जाय। सचिव ने जिला उद्यान अधिकारी को निर्देष दिये की किसी भी एक स्थान को चयनित कर वहा पर कलस्टर बनाये जाय और फूलों की खेती को बड़ावा दिया जाय।

उन्होंने कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देष दिये की किसानो के मृदा स्वास्थ्य कार्ड बनाकर उसके अनुरूप ही उनके खेतों में जिन पोषक तत्वों की कमी पाई जाती है उसका निदान करने का प्रयास किया जाय। सचिव ने षिविर लगाकर उद्योग विभाग की योजनाओं एवं छोटे-छोटे उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के निर्देष उद्योग विभाग को दिये और कहा की टृरिजम हैंडलूम को बड़ावा देने के लिये इसकी कार्य योजना बना ली जाय। इस दौरान सचिव ने राज्य योजना, केन्द्र पोषित योजना, बीस सूत्रीय कार्यक्रम एवं वाह्य साह्यतित् योजनाओं की समीक्षा की एवं अधिकारियों को आवष्यक दिषा निर्देष दिये। जिलाधिकारी सविन बंसल ने सचिव को आष्वस्त किया की उनके द्वारा जो भी निर्देष दिये गये उनका कड़ाई पालन किया जायेगा उन्होने बताया की उनके द्वारा समय-समय पर सम्बन्धितों को आवष्यक दिषा निर्देष जारी किये जा रहे है।

बैठक मं उपस्थित नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाष चन्द्र जोषी द्वारा सचिव को नगर पालिका की विभिन्न समस्याओं से अवगत कराया गया जिनमें रिटार्यड कर्मियों के देयको, मा0 मुख्यमंत्री की घोषणा के अन्तर्गत टम्टा धर्मषाला के लिये 1.5 करोड़ रू0 अवमुक्त करने का अनुरोध किया गया जिस पर उन्होंने अध्यक्ष को उचित आश्वासन दिया।