नैनीसार में जिंदल ग्रुप को भू-आवंटन की होगी जांच, भाजपा ने कहा निरस्त हो आवंटन

746

nainisar-shilapattअल्मोड़ा के नैनीसार में जिदंल ग्रुप को जमीन आवंटन मामले में लगातार उठते विरोध के स्वर के बीच मुख्यमंत्री हरीश रावत ने नैनीसार मामले की भी जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री हरीश रावत ने नैनीसार जमीन मामले की जांच के लिए कमीश्नर कुमाऊं को निर्देशित किया गया है। कुमाऊं कमीश्नर 15 दिनों में अपनी जांच रिपोर्ट सौंपेंगे। वहीं भाजपा ने जांच को नौटंकी करार देते हुए कहा कि सरकार को पहले आवंटन निरस्त करना चाहिए, उसके बाद जांच की बात करनी चाहिए।

harish630मुख्यमंत्री नैनीसार मामले में फैसले का बचाव करते हुए कहा कि रोजगार, बेहतर शिक्षा व स्वास्थ्य के अवसरों के अभाव में पर्वतीय क्षेत्रों में पलायन होता है। हमने पर्वतीय क्षेत्रों उत्कृष्ट स्तर की शैक्षणिक संस्थानों व अस्पतालों की स्थापना के लिए निजी निवेश हेतु भूमि देने के संबंध में नीति बनाई है। नैनीसार में भूमि का आवंटन उसी नीति के तहत किया गया है। इसमें 30 प्रतिशत प्रवेश स्थानीय नागरिकों व कर्मचारियों के लिए रखे गई हैं। इसमें घ श्रेणी में 90 प्रतिशत व ग श्रेणी में 50 प्रतिशत नौकरी स्थानीय लोगों को दी जाएंगी। सीएम रावत ने कहा कि एक बड़े शिक्षण संस्थान की स्थापना से स्थानीय अर्थव्यवस्था को भी बढ़ावा मिलता है।