सीओ समेत 8 पुलिसवाले शहीद, बदमाशों ने ढूंढ-ढूंढकर कर गोली मारी, कौन है विकास दुबे ?

कानपुर (उत्तराखंड पोस्ट) पड़ोसी राज्य यूपी के कानपुर में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस टीम पर अपराधियों ने हमला कर दिया।

 

इस हमले में डीएसपी सहित 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए हैं, वहीं 7 पुलिसकर्मी घायल हैं, जिनका इलाज अस्पताल में चल रहा है।

 

जानकारी के अनुसार, गांव में रात में अंधेरा था। अफराधी ऑटोमैटिक हथियारों से फायर कर रहे थे और पुलिस बचने को इधर उधर भाग रही थी। कुछ पुलिसकर्मी पथराव में जख्मी हो और बचने के लिए आसपास के घरों और भूसा रखने की जगह में शरण ली।

इस दौरान जब अपराधियों के सामने पुलिस कमजोर पड़ी तो अपराधी बाहर निकले और पुलिसकर्मियों को तलाशकर मारना शुरू कर दिया।

 

पूरा घटनाक्रम-

  • राहुल तिवारी नामक एक व्यक्ति ने हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के खिलाफ हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज करवाया था। पुलिस विकास को पकड़ने देर रात लगभग 12.30 बजे के बीच बिकरु गांव पहुंची।
  • गांव में विकास दुबे ने अपने घर के रास्ते में जेसीबी लगाकर रास्ता ब्लॉक कर दिया था। पुलिस अपनी गाड़ियों को जेसीबी के पास छोड़कर पैदल घर की तरफ बढ़ी।
  • रात करीब 1.15 बजे घर के पास पुलिस पहुंची गई। पुलिस के नजदीक पहुंचते ही बदमाशों ने छतों से फायरिंग करना शुरू कर दिया। लगभग 2.15 बजे तक पुलिस और बदमाशों के बीच रूक-रूक कर फायरिंग होती रही।
  • अंधेरे का फायदा उठाते हुए विकास दुबे अपने साथियों के साथ भाग गया। इस मुठभेड़ में बड़ी संख्या में पुलिस के साथी घायल हो गए जबकि सीओ समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए।

 

कौन है विकास दुबे ?

  • विकास दुबे वही अपराधी है, जिसने 2001 में राजनाथ सिंह सरकार में मंत्री का दर्जा पाए संतोष शुक्ला की थाने में घुसकर हत्या कर दी थी, विकास के खिलाफ 60 केस दर्ज हैं।
  • साल 2000 में विकास दुबे पर कानपुर के शिवली थानाक्षेत्र स्थित ताराचंद इंटर कॉलेज के सहायक प्रबंधक सिद्धेश्वर पांडेय की हत्या का आरोप लगा था।
  • साल 2000 में ही उस पर कानपुर के शिवली थानाक्षेत्र में रामबाबू यादव की हत्या मामले में जेल के भीतर रहकर साजिश रचने का आरोप लगा था।
  • साल 2004 में केबल व्यवसायी दिनेश दुबे हत्या मामले में भी विकास पर आरोप है।
  • 2018 में अपने ही चचेरे भाई अनुराग पर विकास दुबे ने जानलेवा हमला करवाया था। इस दौरान भी विकास जेल में बंद था।

 

उत्तराखंड के रोचक वीडियो के लिए हमारे Youtube चैनल को SUBSCRIBE जरुर करें–   http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost

Twitter– https://twitter.com/uttarakhandpost                        

Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost

Instagram-https://www.instagram.com/postuttarakhand/