बागेश्वर फूड प्वाइजनिंग मामला | बारात का खाना खाने के बाद बीमार पड़े मरीजों की जांच में मिली ऐसी चीज

2017

हल्द्वानी (उत्तराखंड पोस्ट) कपकोट के बास्ती गांव में 29 नवंबर को बारात में खाना खाने के बाद बीमार पड़े मरीजों का हल्द्वानी सुशीला तिवारी अस्पताल में इलाज के दौरान दो मरीजों की स्टूल जांच की गई तो उसमें सिजेला और इक्वोलाई नामक वायरस मिले। डॉक्टरों का मानना है कि इसी वायरस से भोजन विषाक्त हुआ होगा। एमएस डॉ. अरुण जोशी ने बताया कि दोनों नमूनों में सिजेला और इक्वोलाई वायरस की पुष्टि हुई है।

मिलावटी खाद्य पदार्थों में यह वायरस पाया जाता है, जो भोजन को दूषित कर देता है। उन्होंने बताया कि अभी स्टूल के दो नमूनों की जांच होनी है। चारों नमूनों की उच्च स्तरीय प्रयोगशाला में जांच के बाद ही सही स्थिति सामने आएगी।कपकोट के विधायक बलवंत सिंह भौर्याल ने बास्ती गांव में विषाक्त भोजन मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। बुधवार को विधानसभा में सचिव को सौंपे पत्र में उन्होंने घटना के प्रभावितों और मृतकों के आश्रितों को शीघ्र मुआवजा देने की भी मांग उठाई।

बुधवार को सोशल मीडिया में अफवाह फैली कि गांव के ही किसी व्यक्ति ने रंजिशन खाने में जहर मिला दिया था जिस कारण चार लोगों की जान चली गई और सैकड़ों लोग बीमार हो गए। इधर, प्रशासन ने कहा कि इस मामले में अभी न तो एफआईआर हुई है न ही कोई गिरफ्तारी। डीएम रंजना राजगुरु ने संदेश वायरल करने वालों पर कार्रवाई करने के निर्देश पुलिस को दिए हैं।

Follow us on twitter – https://twitter.com/uttarakhandpost

 Like our Facebook Page – https://www.facebook.com/Uttrakhandpost/