एटीएम की संख्या घटा रहे हैं बैंक, हो सकते हैं नोटबंदी जैसे हालात ! जानिए वजह

136

नई दिल्ली (उत्तराखंड पोस्ट) देश भर में कई बैंक धीरे-धीरे एटीएम की संख्या को घटा रहे है। अगर एटीएम ऐसे ही बंद होते रहे तो देश भर में इनकी संख्या मार्च तक आधी रह जाएंगी।

अगर एटीएम बंद होते हैं तो फिर देश में एक बार फिर से नोटबंदी जैसा माहौल बन जाएगा। आपको बता दें कि देश में इस वक्त कुल 2.38 लाख एटीएम कार्य कर रहे हैं।

अमर उजाला की खबर के अनुसार कंफेडरेशन ऑफ एटीएम इंडस्ट्री (कैटमी) ने चेताया है कि एटीएम बंद होने से हजारों लोगों की नौकरी जाएगी, साथ ही सरकार के वित्तीय समावेशन करने के इरादे को भी झटका लगेगा। एटीएम सेवा देने वाली कंपनियों को मार्च 2019 तक करीब 1.13 लाख एटीएम बंद करने पड़ सकते हैं। इसमें 1 लाख ऑफ साइट एटीएम और 15 हजार व्हाइट लेबल एटीएम हैं।

कैटमी ने कहा कि एटीएम कंपनियां धीरे-धीरे इनकी संख्या में कमी कर रहे हैं क्योंकि इनको चलाने में घाटा हो रहा है। अभी फिलहाल छोटे शहरों में एटीएम को बंद किया जा रहा है। ऐसे में एटीएम के बंद होने से इन शहरों में नोटबंदी जैसे हालात पैदा हो जाएंगे।

सबसे ज्यादा नुकसान व्हाइट लेबल एटीएम ऑपरेटर्स को हो रहा है और ये अतिरिक्त घाटा नहीं उठा सकते हैं। इनके लिए एटीएम इंटरचेंज ही आय का साधन है। ये स्थिर है। कॉन्फिडरेन ऑफ एटीएम इंडस्ट्री के मुताबिक अगर बैंकों ने उनकी लागत की भरपाई नहीं की तो बड़े पैमाने पर कॉन्ट्रैक्ट सरेंडर होंगे इस कारण कई एटीएम बंद हो जाएंगे।

गर्लफ्रेंड ने BOY FRIEND के टुकड़े-टुकड़े किए और बिरयानी बनाकर लोगों को खिला दी

काम की बात | अब पैन कार्ड बनवाने के लिए पिता का नाम जरूरी नहीं

Follow us on twitter – https://twitter.com/uttarakhandpost

Like our Facebook Page – https://www.facebook.com/Uttrakhandpost/