उत्तरकाशी में फिर बड़ा हादसा, सामने आयी वजह, जानिए

278

उत्तरकाशी (उत्तराखंड पोस्ट) दो दिन पहले उत्तरकाशी के आराकोट बंगाण क्षेत्र में आपदा राहत कार्य के दौरान हेरीटेज एविएशन कंपनी का हेलीकॉप्टर क्रैश होने के बाद से यहां हेलीकॉप्टर के माध्यम से राहत एवं बचाव कार्य बंद कर दिए गए थे। आज एक बार फिर एक बड़ा हादसा हुआ है।

दरइसल, आज फिर गांराहत कार्य शुरू किया गया। दो राउंड में सफलतापूर्वक राहत सामग्री पहुंचाने के बाद दोपहर करीब 2:15 बजे पायलट ने हेलीकॉप्टर की इमरजेंसी लैंडिंग करा दी। हादसे में पायलट एवं इंजीनियर सुरक्षित हैं। इंजीनियर को हल्की चोटें आई हैं। इमरजेंसी लैंडिंग के तत्काल बाद रेस्क्यू टीमें मौके पर पहुंच गई।

हादसे की वजह बताई गयी कि पायलट ने टिकोची के पास बागीचों से सड़क तक सेब पहुंचाने वाली तारों को देखा जिसके बाद उसने इमरजेंसी लैंडिंग करा दी समतल मैदान नहीं होने के कारण उन्हें नदी के किनारे पत्थरों पर ही लैंडिंग करनी पड़ी। गनीमत रही कि इस दौरान कोई हादसा नहीं हुआ।

पायलट सुशांत जीना निवासी जबलपुर और को पायलट अजित सिंह, निवासी  हरियाणा को आराकोट पहुंचाया जा रहा है, जहां से हेलीकॉप्टर के जरिए इन्हें देहरादून ले जाया जाएगा। जिलाधिकारी डॉ आशीष चौहान ने बताया कि हेलीकॉप्टर की इमरजेंसी लैंडिंग क्यों कराई गई इसकी उनके पास सही रिपोर्ट नहीं आई है।

आपको बता दें कि आपदा प्रभावित आराकोट क्षेत्र के गांवों में राहत सामग्री पहुंचा रहा एक हेलीकॉप्टर 21 अगस्त को मोल्डी गांव के पास तार से टकराकर क्रैश हो गया था। हादसे में हेलीकॉप्टर के परखच्चे उड़ गए थे और इसमें सवार पायलट एवं इंजीनियर के साथ ही एक स्थानीय युवक की मौत हो गई थी।

youtube Videos– http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost 

Follow Twitter Handle– https://twitter.com/uttarakhandpost                 

Like Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost