Home धर्म

धर्म

दर्शन नहीं किए तो जल्दी कीजिए, इस दिन बंद हो जाएंगे बदरीनाथ और केदारनाथ...

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) केदारनाथ धाम के कपाट परंपरानुसार भैयादूज के पावन पर्व पर नौ नवंबर को प्रात: 8.30 बजे शीतकाल के लिए बंद होंगे। वहीं द्वितीय केदार भगवान मद्महेश्वर के कपाट 22 नवंबर एवं तृतीय केदार तुंगनाथ के कपाट 29...

नवरात्रि | मां स्कंदमाता की कृपा से मूढ़ भी ज्ञानी हो जाता है

देहरादून  नवरात्र का चौथा दिन है। आज के दिन देवी दुर्गा के स्कंदमाता स्वरूप की उपासना की जायेगी। इनकी उपासना से घर-परिवार में सुख-शांति और समृद्धि बनी रहती है। स्कंद कुमार कार्तिकेय की माता होने के कारण इन्हें स्कंदमाता नाम...

नवरात्री | जन्म-जन्मान्तर के कष्टों से मुक्त करती है मां चंद्रघंटा

देहरादून  नवरात्रि के तीसरे दिन मां भगवती के तीसरे स्वरूप चंद्रघंटा देवी की पूजा अर्चना होती है। चंद्रघंटा – मां दुर्गा की तीसरी शक्ति का नाम ‘चंद्रघंटा’ है। नवरात्र उपासना में तीसरे दिन चंद्रघंटा की आराधना की जाती है। इनका स्वरूप...

नवरात्रि | दूसरे दिन होती है मां दुर्गा के ब्रह्मचारिणी स्वरूप की पूजा

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) आदि शक्ति मां दुर्गा का द्वितीय रूप है श्री बह्मचारिणी। मां दुर्गा अपने इस रूप में पूर्ण रूप से शांत हैं साथ ही निमग्न होकर तप में लीन हैं। कठोर तप के कारण मां के मुख पर...

नवरात्रि | पहले दिन होती है मां शैलपुत्री की पूजा, जानिए विधि

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट ब्यूरो) मां देवी की उपासना का पर्व है नवरात्रि। नवरात्रि के नौ दिनों में मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है। देवी दुर्गा के नौ रूप हैं शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंधमाता, कात्यायनी, कालरात्रि,...

एक ऐसा अनोखा मंदिर जहां भक्त मां काली को चढ़ाते हैं नूडल्स और सब्जी

कोलकाता (उत्तराखंड पोस्ट ब्यूरो)  कोलकाता के टंगरा इलाके में काली मां का एक ऐसा मंदिर है जहां प्रसाद में नूडल्स और फ्राइड राइस का भक्तों में बांटा जाता है। मां को चाइनीज व्यंजन का भोग लगता है और फिर...

शनिवार के दिन गलती से भी ना करें ये काम

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट ब्यूरो)  शनि को न्यायधिश माना गया है और शनिवार शनिदेव का दिन है। इस दिन किए जाने वाले कार्य के संबंध में विशेष रूप से कई नियम बनाए गए हैं। यह काफी कठोर ग्रह है। इसी वजह...

पितृपक्ष में गलती से भी ना करें ये काम ?

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट ब्यूरो) पितृपक्ष में सूर्य दक्षिणायन होता है। शास्त्रों के अनुसार सूर्य इस दौरान श्राद्ध तृप्त पितरों की आत्माओं को मुक्ति का मार्ग देता है। मान्यता है कि इसीलिए पितर अपने दिवंगत होने की तिथि के दिन, पुत्र-पौत्रों...

गोलू देव | न्याय के देवता के दरबार में हर अर्जी होती है पूरी

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट ब्यूरो) गोलू देवता उत्तराखंड के न्याय के देवता हैं। इस मंदिर की कुमाऊं में न्याय देवता के मंदिर के रूप में मान्यता है। जिसे कहीं कोई न्याय नहीं मिलता और जो नाउम्मीद हो चुका होता है,...

पितृपक्ष विशेष | श्राद्ध के बारे में वो सब कुछ जो आप जानना चाहते...

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट ब्यूरो) श्राद्ध पूर्वजों के प्रति सच्ची श्रद्धा का प्रतीक हैं। पितरों के निमित्त विधिपूर्वक जो कर्म श्रद्धा से किया जाता है उसी को 'श्राद्ध' कहते हैं। हिन्दू धर्म के अनुसार, प्रत्येक शुभ कार्य के प्रारम्भ में माता-पिता,...

क्या आप जानते हैं ? यहां सोमवार को भी नहीं होती है भोलेनाथ की...

पिथौरागढ़ (उत्तराखंड पोस्ट ब्यूरो) उत्तराखंड के पिथौरागढ़ से लगभग छः किलोमीटर दूर गांव बल्तिर में स्थित है, हथिया देवाल, यहां दूर-दूर से लोग आते हैं, लेकिन पूजा करने नहीं बल्की मंदिर की अनूठी स्थापत्य कला को निहारते लोग पहुंचते हैं।  यहां...

रहस्यमयी मंदिर : सालों से जहां देवता हैं कैदखाने में बंद

देवभूमि उत्तराखंड कई मायनों में दूसरी जगहों से अलग है। यहां की संस्कृति, रीति-रिवाज, मान्यताएं इसे ना सिर्फ अद्भुत बनाती हैं बल्कि यहां आने वाले हर शख्स को मंत्र-मुग्ध भी कर देती हैं। देवभूमि में कई ऐसे मंदिर हैं...

MOST READ