Home धर्म

धर्म

25 लाख श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी

अर्द्ध कुम्भ मेले के द्वितीय स्नान पर्व सोमवती अमावस्या पर कुंभ नगरी में करीब 25 लाख लोगों ने आस्था की डुबकी लगाई। गंगा में स्नान कर पुण्य अर्जित करने के लिए सोमवार तड़के दो बजे से ही हरकी पैड़ी...

अब मोबाइल पर मिलेगा चारधाम यात्रा की पूरी जानकारी

उत्तराखंड पर्यटन विभाग चार धाम यात्रा को प्रमोट करने और श्रद्धालुओं की सुविधा लिए नई योजना तैयार कर रहा है। ये योजना जमीन पर उतरी तो चारधाम यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं को काफी मदद मिलेगी। योजना के तहत...

परंपरागत दाह संस्कार के विकल्पों पर विचार करे सरकार: NGT

एनजीटी ने पर्यावरण मंत्रालय और दिल्ली सरकार से कहा है कि वे मानव शवों के दाह संस्कार के वैकल्पिक तरीके उपलब्ध कराने संबंधी योजनाओं की पहल करें। एनजीटी ने  लकड़ियां जलाकर किए जाने वाले पारंपरिक दाह संस्कार को पर्यावरण...

किसी भी धर्म में नहीं होना चाहिए महिलाओं से भेदभाव: रामदेव

योगगुरु बाबा रामदेव ने महाराष्ट्र के शनि मंदिर के गर्भ गृह में प्रवेश करने और लैंगिक भेदभाव खत्म करने की मांग कर रही महिला कार्यकर्ताओं को समर्थन किया है। बाबा रामदेव ने कहा कि कि किसी भी धर्म में...

यमुनोत्री | यहीं से शुरु होती है चार धाम यात्रा

पुराणों में यमुनोत्री का विशेष महत्व है। असित मुनि की निवास स्थली यमुनोत्री धाम 3235 मी० की ऊंचाई पर स्थित है। चार धाम की यात्रा में सर्वप्रथम यमुनोत्री के ही दर्शन किये जाते हैं। यमुनोत्री में एक ओर यमुना...

गंगोत्री | मां गंगा का उद्गम स्थल

विश्व की प्राचीनतम संस्कृतियों में से एक है भारतीय संस्कृति। इस संस्कृति के आरंभ से लेकर वर्तमान तक जितने भी परिवर्तन हुए हैं उन सब की साक्षी है गंगा। ये वही गंगा है जिसे लोग भागीरथी, मंदाकिनी, सुरसरिता, देवनदी...

बदरीनाथ | दर्शन मात्र से ही मनुष्य को प्राप्त होता है मोक्ष

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट ब्यूरो) बदरीनाथ धाम को भारत के चार पवित्रों धामों में सबसे प्राचीन बताया गया है। सतयुग, द्वापर, त्रेता और कलियुग इन चार युगों की शास्त्रों में जो महिमा कही गयी है उसके अनुसार उत्तर में सतयुग का बदरीनाथ,...

गोमुख से हरिद्वार तक पॉलीथीन बैन, पांच हजार का लगेगा जुर्माना

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के आदेश के बाद उत्तराखंड में गंगा किनारे बसे शहरों में सोमवार से प्‍लास्टिक पर पूर्ण प्रतिबंध लग गया है। एनजीनी ने आदेश दिया था कि गंगा किनारे हर शहर में गंगा में कूड़ा डालने...

नमामि गंगे | गंगा किनारे बसे गांवों में बनेंगे शौचालय, 263 करोड़ होंगे खर्च:...

  नई दिल्ली में स्वच्छ गंगा और ग्रामीण सहभागिता सम्मेलन में गंगा के संरक्षण और स्वच्छता को लेकर मंथन हुआ। खास बात यह थी कि बैठक में गंगा के किनारे स्थित गांवों के करीब 1600 से ज्यादा ग्राम प्रधान और...

मेला अधिकारी एस मुरूगेशन ने हरिद्वार में की अर्द्धकुंभ के कार्यों की समीक्षा

हरिद्वार में अर्द्धकुंभ के मेला अधिकारी एस मुरूगेशन ने शनिवार को अर्द्धकुम्भ मेला मे पत्रकारों की सुविधाओं के लिए नीलधारा मे स्थापित मीडिया सेन्टर में व्यवस्थाओें का जायजा लिया। मेला अधिकारी ने मीडिया सेंटर में आने वाले पत्रकारों को...

ग्लोबल वार्मिंग थी ‘केदारनाथ त्रासदी’ की एक वजह : मुख्यमंत्री हरीश रावत

केदारनाथ त्रासदी का उत्तराखण्ड के अन्दर नदियों मे हो रहे विकास कार्यो का प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से कोई ताल्लुक नहीं है, बल्कि इसका एक कारण ग्लोबल वार्मिंग भी है। कुछ वैज्ञानिकों ने यह भी कहा कि केदारनाथ त्रासदी...