मेरा टिकट क्यों काटा, BJP बताए क्या हैं टिकट देने और काटने के मानक: रावत

भाजपा से बगावत कर कांग्रेस के टिकट पर यमकेश्वर विधानसभा सीट से ताल ठोक रहे शैलेंद्र रावत ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा है। अब ख़बरें एक क्लिक पर इस लिंक पर क्लिक कर Download करें Mobile App –https://play.google.com/store/apps/details?id=app.uttarakhandpost रावत ने ऋषिकेश में मीडिया से बात करते हुए कहा कि कहा कि आज मेरे कारण
 
मेरा टिकट क्यों काटा, BJP बताए क्या हैं टिकट देने और काटने के मानक: रावत

भाजपा से बगावत कर कांग्रेस के टिकट पर यमकेश्वर विधानसभा सीट से ताल ठोक रहे शैलेंद्र रावत ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा है।

अब ख़बरें एक क्लिक पर इस लिंक पर क्लिक कर Download करें Mobile App –https://play.google.com/store/apps/details?id=app.uttarakhandpost

रावत ने ऋषिकेश में मीडिया से बात करते हुए कहा कि कहा कि आज मेरे कारण कोटद्वार आंसू बहा रहा है और यमकेश्वर गले लगा रहा है इस बात का जवाब भारतीय जनता पार्टी जवाब दे ।

कांग्रेस प्रत्याशी शैलेंद्र रावत ने कहा कि एक अच्छे प्रत्याशी के टिकट के मानक क्या होते हैं और एक बुरे प्रत्याशी के टिकट कटने के मानक क्या होते हैं भाजपा इस बात को स्पष्ट करें। मैं अगर गलत था तो भाजपा कारण बताएं। अगर मैं सही था तो मेरा टिकट क्यों काटा।

मेरा टिकट क्यों काटा, BJP बताए क्या हैं टिकट देने और काटने के मानक: रावत

रावत ने कहा कि मैंने 14 साल भाजपा की सेवा की और मुझे बनवास मिला। एक सच्चे इंसान की राजनीतिक हत्या को मुख्यमंत्री हरीश रावत ने रोका है और यमकेश्वर से प्रत्याशी बनाकर सम्मान दिया है। शैलेंद्र रावत ने कहा कि उत्तराखंड बनने के बाद यमकेश्वर पर्यटन शिक्षा रोजगार सभी मामलों में पिछड़ा हुआ है। भाजपा का यहां से लगातार तीन बार प्रतिनिधि रहा।

धनोल्टी में कांग्रेस का सरेंडर, प्रीतम पंवार का समर्थन करेगी कांग्रेस

उन्होंने कहा कि 1991 से भुवन चंद्र खंडूड़ी गढ़वाल के सांसद रहे वह बताएं कि उन्होंने यमकेश्वर के लिए क्या किया। उन्होंने कहा कि भाजपा ने ऐसे लोगों को गले लगाया है, जिनके कारण उत्तराखंड की राजनीति अस्थिरता के दौर से गुजरी है और ऐसे लोगों को छोड़ दिया, जिन्होंने भाजपा की फसल को सींचने का काम किया।

From around the web