यमुनोत्री के बाद श्रद्धालुओं के लिए खुले गंगोत्री धाम के कपाट

243

गंगोत्री (उत्तराखंड पोस्ट ब्यूरो) उत्तराखंड में बुधवार को यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ ही चारधाम यात्रा की शुरुआत हो गई है। यमुनोत्री धाम के कपाट दोपहर 12 बजकर 15 मिनट में पूरे विधि विधान के साथ शुभ मुहूर्त में खोले गए।

इसके बाद गंगोत्री धाम के कपाट भी दोपहर एक बजकर 15 मिनट पर शुभ मुहूर्त में श्रद्धालुओं के लिए खोले गए। इससे पहले मंगलवार को मुखबा गांव में गंगा की विदाई की तैयारियां शुरू हो गई थीं। सुबह विशेष पूजा अर्चना और आरती के बाद गंगा की डोली को सजाया गया। इसके बाद तय मुहूर्त के अनुसार 11:45 पर मां गंगा की उत्सव डोली मुखबा से गंगोत्री के लिए रवाना हुई।

गंगा की डोली यात्रा में मुखबा के साथ ही धराली, हर्षिल समेत उपला टकनौर के ग्रामीणों तथा कई तीर्थयात्री भी जयकारे लगाते हुए शामिल हुए। मार्कण्डेय पुरी स्थित दूर्गा मंदिर में पहुंचने के बाद मां गंगा के साथ भक्तों ने अल्प विश्राम किया। मुखबा के प्राचीन पैदल यात्रा पथ से होते हुए डोली शाम को भैरों घाटी पहुंची। यहां भंडारे के साथ रात्रि जागरण की व्यवस्था की गई है। यहां पूरी रात भजन कीर्तन किया गया।

बुधवार तड़के मां गंगा की डोली यात्रा गंगोत्री के लिए रवाना हुई और यहां पहुंचने के बाद शुभ मुहूर्त में वैदिक मंत्रोचारण के साथ दोपहर एक बजकर 15 मिनट पर गंगोत्री धाम के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए गए। वहीं केदारनाथ धाम के कपाट 29 अप्रैल और 30 अप्रैल को बदरीनाथ धाम के कपाट यात्रियों के लिए खुलेंगे।

(उत्तराखंड पोस्ट के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैंआप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

गंगोत्री | करोड़ों लोगों की आस्था की केंद्र है गंगा, जानिए महिमा

चारधाम यात्रा की शुरुआत, शुभ मुहूर्त में खुले यमुनोत्री धाम के कपाट