CM त्रिवेंद्र की सलाह पर अमल करने के लिए मजबूर हैं हरीश रावत, बताई ये वजह

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) गैरसैंण में विधानसभा का शीतकालीन सत्र न कराए जाने के विरोध में 5 दिसंबर को गैरसैंण में एक दिन के उपवास पर बैठने का ऐलान करने वाले पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिहं रावत ने चुटकी ली है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हरीश रावत मोटे-तगड़े हो गए हैं इसलिये वो डाइटिंग करने गैरसैण जा रहे हैं।

अब इस पर पलटवार करते हुए हरीश रावत ने कहा कि उत्तराखण्ड में किसान है त्रस्त, नौजवान लस्त-पस्त, उत्तराखण्ड अस्त-व्यस्त और सरकार है, मस्त, यह स्थिति बदलनी है। गन्ने का भुगतान नहीं, खरीद मूल्य दूर, बेबस किसान औने-पौने दाम पर चरखी में गन्ना बेच रहा है, पहले धान, अब गन्ना, किसान बदहाल है।

रावत ने आगे कहा कि मैं मजबूर हूं, त्रिवेन्द्र सिंह जी की वजन घटाने की सलाह पर अमल करने के लिये और 5 दिसम्बर को प्रातः 11 बजे, विधानसभा भवन के सम्मुख, किसानों की समस्या को लेकर, विशेष तौर पर गन्ने के सवाल पर ‘उपवास’ पर बैठूंगा। गैरसैंण और गन्ना, दोनों मेरी आत्मा के हिस्सा हैं।

Youtube – http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost 

Twitter– https://twitter.com/uttarakhandpost                 

Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost