हार से निराश कार्यकर्ताओं में ऐसे जोश भर रहे हैं हरीश रावत, बोले- सेवा करतें रहेंगे तो फल अवश्य मिलेगा

413

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) लोकसभा चुनाव में करारी हार से कार्यकर्ताओं को उबारने के लिए पार्टी के शीर्ष नेता उनमें जोश भरने की कोशिश में लगे हैं। इसी कोशिश के उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को गीता का श्लोक याद दिलाया है।

हरीश रावत ने कहा कि कांग्रेस के अपने दोस्तों से मैं कहना चाहता हूं कि गीता के इस श्लोक को ध्यान में रखकर आगे बढ़ें।

“योगस्थः कुरु कर्माणि संग त्यक्त्वा धनंजय।

सिद्धयसिद्धयोः समो भूत्वा समत्वं योग उच्यते॥”

धनंजय! आसक्ति और संघ दोष को त्यागकर, सिद्धि और असिद्धि में समान रूप से समान भाव रखकर योग में स्थित होकर कर्म कर, कौन सा कर्म “समत्वं योग उच्यते”, निष्काम कर्म कर। यदि हम काम करते रहेंगे, निष्काम भाव से सेवा करते रहेंगे, फल अवश्य मिलेगा।

हमारा Youtube  चैनल Subscribe करें– http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost 

हमें ट्विटर पर फॉलो करेंhttps://twitter.com/uttarakhandpost                              

हमारा फेसबुक पेज लाइक करें– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost