हमने नजूलधारकों को मालिकाना हक दिया, बीजेपी क्या कर रही है? : हरीश रावत

290

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) पूर्व सीएम हरीश रावत ने एक बार फिर से राज्य की बीजेपी सरकार पर तीखा प्रहार किया है।

हरीश रावत ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा कि आज दो दिलचस्प खबरें पढ़ने को मिली। रुद्रपुर के माननीय विधायक ने कहा है कि यदि नजूल भूमि पर काबिज लोगों को मैं मालिकाना हक नहीं दिलवा पाया, उन जमीनों को फ्री होल्ड नहीं कर पाया तो मैं 2022 में चुनाव नहीं लड़ूंगा। सत्यता ये है कि हम इस निर्णय को कर चुके थे और हमने सभी ऐसे नजूलधारियों को मालिकाना हक देने का निर्णय किया था और उसके लिए पूरी प्रक्रिया बनाकर के तैयार की थी, उसको लागू भी कर दिया था।

रावत ने कहा कि हमने जो खेती की जमीन पर इस तरीके के लोग हैं, पट्टेदार हैं, दूसरे लोग हैं जिन्होंने किसी तरीके के भी दस्तावेजों में जमीनें खरीदी है या वो लंबे समय से काबिज है, उनको भी भूमिधरी अधिकार दिया।

इसके अलावा रावत ने कहा कि हमने सरकारी भूमि पर बसे हुए ऐसे दलित, कमजोर वर्ग के लोगों को भी उस भूमि पर मालिकाना हक दिया। दलितों को मालिकाना हक मिल गया है, मिल रहा है, किसानों को मिल गया है, मिल रहा है।

हरीश रावत ने कहा कि मेरी समझ में नहीं आ रहा है कि जो नजूल भूमि पर शहरी क्षेत्रों में बसे हुए लोग हैं जिनके पास नजूलधारक है, उनको क्यों नहीं मालिकाना हक अब मिल रहा है। हाईकोर्ट ने आवश्यक तत्वों के अभाव में सरकार की तरफ से कमजोर पैरवी के कारण, सरकार की तरफ से हमारे सरकार के वक्त में लिए गए निर्णयों के सब दस्तावेजों को हाईकोर्ट के सम्मुख न रखे जाने के कारण ये निर्णय लिया है। यदि इस संदर्भ में सरकार गंभीर हो तो हाईकोर्ट से भी न्याय मिल सकता है और सुप्रीम कोर्ट से भी उसको न्याय मिल सकता है। क्योंकि हमने जो निर्णय किया था वो पूरी तरीके से सभी कानूनी पहलुओं को सुनिश्चित करते हुए निर्णय लिया है।

अच्छी खबर | उत्तराखंड में 1200 करोड़ का निवेश करेगी ये कंपनी

Follow us on twitter – https://twitter.com/uttarakhandpost

Like our Facebook Page – https://www.facebook.com/Uttrakhandpost/

खुशखबरी | उत्तराखंड में 15 दिनों के अंदर होगी 5034 गेस्ट टीचरों की नियुक्ति