लोस चुनाव | क्या हरीश रावत को नहीं अपनी जीत का भरोसा ? फिर क्यों कही ये बात

1005

हल्द्वानी (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड की पांचों लोकसभा सीट पर मतदान संपन्न हो चुका है औऱ अब सबको 23 मई का इंतजार है जब जनता का फैसला ईवीएम से बाहर आएगा।

इस बीच मतदान के अगले ही दिन उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री व नैनीताल-ऊधम सिंह नगर लोकसभा सीट से उम्मीदवार हरीश रावत ने ऐसी बातें फेसबुक पर लिखी हैं जो काफी कुछ ईशारा कर रही हैं।

हरीश रावत ने शुक्रवार सुबह अपने फेसबुक पेज लिखा कि मतदान संपन्न हुए लगभग 18 घंटे बीत चुके हैं। मैंने कर्मक्षेत्र के रूप में नैनीताल-ऊधमसिंहनगर को जरूर अपनाया है और उन्होंने कितना मुझे अपनाया है इसका नतीजा तो 23 मई को ही निकलेगा मगर मुझे मतदान के दिन भी हरिद्वार और हरिद्वार के लोग बहुत याद आ रहे थे।

हरीश रावत ने आगे लिखा कि हरिद्वार के लोग आगे भी बहुत याद आयेंगे और मैं हरिद्वार के लोगों से कहना चाहता हूं कि मैं उनके लिए भी एक एडिशनल एमपी के तौर पर काम करूंगा और जो भी हरिद्वार के लोगों की और हरिद्वार कांग्रेस की सेवा संभव होगी, वो मैं दूंगा।

हरीश रावत की ये फेसबुक पोस्ट सामान्य जरुर हो लेकिन इसके मायने ये भी निकल रहे हैं कि क्या हरीश रावत को इस चुनाव में नैनीताल-ऊधम सिंह नगर सीट से अपनी जीत का भरोसा नहीं है और वह इस पोस्ट के माध्यम से हरीश रावत इस ओर ईशारा कर रहे हैं कि एक बार फिर से वे अगर यहां से चुनाव नहीं जीत पाते हैं तो हरिद्वार को अपनी कर्मभूमि बनाएंगे और भविष्य में वहीं से चुनाव लड़ेंगे, फिर वो चाहे 2022 में होने वाले उत्तराखंड के विधानसभा चुनाव ही क्यों न हों ?

हमारा Youtube  चैनल Subscribe करें http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost 

हमें ट्विटर पर फॉलो करेंhttps://twitter.com/uttarakhandpost

हमारा फेसबुक पेज लाइक करें – https://www.facebook.com/Uttrakhandpost/