शहादत को सलाम | शहीद मेजर को दी गई अंतिम विदाई, पिता की शहादत से बेख़बर है पांच साल की बेटी

मेरठ (उत्तराखंड पोस्ट) अनंतनाग जिले के अच्छाबल इलाके में आतंकियों से मुठभेड़ में शहीद हुए क्रांतिधरा के लाल केतन शर्मा का पार्थिव शरीर मंगलवार दोपहर को उनके घर पहुंचा। शहीद मेजर की अंतिम यात्रा में केतन शर्मा अमर रहे के नारों से सड़कें गूंज उठीं।

वहीं शहीद केतन की मां का रो-रोकर बुरा हाल है। वे रोते हुए अफसरों से कह रही है कि मेरा शेर लौटा दो। उधर, बिलखते हुए पिता कह रहे हैं कि अब क्या होगा। इस दौरान सेना के अफसरों ने शहीद केतन शर्मा के परिवार के सदस्यों को सांत्वना दी।

शहीद मेजर केतन शर्मा कंकरखेड़ा मेरठ के श्रद्धापुरी फेस-2 निवासी थे। वह परिवार में इकलौते पुत्र थे। एक बहन है। मेजर की शादी 2012 में हुई थी।

उनकी पत्नी ईरा का रो-रोकर बुरा हाल है। वहीं पांच वर्ष की मासूम बेटी को तो यह भी नहीं पता कि पापा उसे छोड़कर कहां चले गए।

मेजर केतन शर्मा की शहादत की सूचना से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। शहीद मेजर के पिता रविंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि 20 दिन पहले ही 27 मई को वह अवकाश से ड्यूटी पर लौटे थे।

ये वीडियो आपको रुला देगा, शहीद मेजर की मां बोली- मेरे शेर बेटा कहां गया ?

हमारा Youtube  चैनल Subscribe करें– http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost

हमें ट्विटर पर फॉलो करेंhttps://twitter.com/uttarakhandpost         

हमारा फेसबुक पेज लाइक करें– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost