बागेश्वर | स्कूली बच्चों पर तेंदुए का हमला, जान बचाने के दौरान खाई में गिरा बच्चा, मौत

298

बागेश्वर [उत्तराखंड पोस्ट] बागेश्वर से द्यांगण गांव में खूंखार तेंदुआ स्कूली बच्चों पर झपट पड़ा। जाने बचाने को मची भगदड़ के दौरान दसवीं के छात्र 50 मीटर गहरे गधेरे में गिरने से मौत हो गई।

छात्र की मौत के बाद गांव में मातम छा गया। गुस्साए परिजनों और ग्रामीणों ने वन विभाग और प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जिला अस्पताल में जमकर हंगामा किया। भड़के ग्रामीणों ने तब तक शव  उठाने से इनकार किर दिया जब तक कि तेंदुए को आदमखोर घोषित नहीं किया जाता।

जानकारी के मुताबिक शुक्रवार शाम पांच बजे द्यांगण गांव में कुछ स्कूली बच्चे खेल रहे थे। तभी उन्हें एक मकान के पीछे झाड़ियों में तेंदुआ नजर आया। इसी मकान के बराबर में ही पिछले दिनों तेंदुआ एक आंगन से पांच साल के मासूम को उठा ले गया था। तेंदुए को देखते ही बच्चे डरकर भागने लगे। इस बीच, तेंदुए ने भागते बच्चों के झुंड पर झपटने की कोशिश भी की।

भगदड़ के दौरान भागते वक्त हेमंत टंगड़िया (15) पुत्र कमल सिंह 50 मीटर गहरे गधेरे में गिर पड़ा। घर पहुंचे बच्चों ने परिजनों को घटना की जानकारी दी। गांववाले अचेत और लहूलुहान हालत में हेमंत को जिला अस्पताल ले गए, जहां चिकित्सकों ने हेमंत को मृत घोषित कर दिया। बता दें कि दिवाली के त्योहार के बीच आदमखोर के हमले के चलते बच्चे की मौत की यह दूसरी घटना है। मंगलवार को ही आदमखोर पांच साल के एक बालक को मौत के घाट उतार चुका है।

Follow us on twitter – https://twitter.com/uttarakhandpost

Like our Facebook Page – https://www.facebook.com/Uttrakhandpost/