14 साल जेल में रहने के बाद डॉक्टर बना शख्स, MBBS के दौरान कर दी थी दो लोंगो की हत्या

बेंगलुरू (उत्तराखंड पोस्ट) हत्या के मामले में 14 साल जेल में रहने के बाद एक शख्स डॉक्टर बन गया। मामला कर्नाटक के कलबुर्गी का है। यहां एक हत्यारे ने अपनी मेडिकल की पढ़ाई दोबारा शुरू की और डॉक्टर बन गया।

बताया गया कि इस शख्स ने 14 साल पहले अपनी प्रेमिका और उसके पति की हत्या की थी। इसके बाद अदालत ने उन्हें उम्र कैद की सजा सुनाई। 14 साल जेल की सजा के बाद उनके अच्छे आचरण को देखते हुए रिहा कर दिया गया। जेल से निकलने के बाद उन्होंने अपनी मेडिकल की अधूरी पढ़ाई पूरा करने के लिए दाखिला लिया और शनिवार को उन्हें MBBS की डिग्री एक समारोह में दी गई।

इस शख्स का नाम डॉ सुभाष तुकाराम पाटिल है जो कि बेंगलुरू से 475 किलोमीटर दूर अफजलपुर तालुक के निवासी हैं। बताया गया कि MBBS के दौरान उन्हें एक शादीशुदा महिला से एकतरफा प्रेम हो गया। महिला की तरफ से प्रेम में नाकाम रहने के बाद उन्होंने महिला और उसके पति की हत्या कर दी. हत्या के जुर्म में अदालत ने उन्हें उम्र कैद की सजा सुनाई।

सुभाष को सजा की अवधि के दौरान 6 साल बेंगलुरू के सेंट्रल जेल में बिताना पड़ा. उसके बाद कलबुर्गी सेंट्रल जेल में उन्हें शिफ्ट कर दिया गया। जेल में रहते ही उन्होंने कर्नाटक स्टेट ओपन यूनिवर्सिटी से पत्रकारिता का कोर्स किया।

Youtube  http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost

Twitter– https://twitter.com/uttarakhandpost                                

Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost