अब जागेश्वर में दिखेगी स्वच्छता की चमक

657

jageshwarउत्तराखण्ड विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल ने प्रसिद्ध जागेश्वर धाम में स्वच्छता अभियान के तहत जागेश्वर पर स्वच्छ बनाने की मुहिम तेज करा दी है। जागेश्वर मंदिर समिति एंव आपदा नयूनीकरण व प्रबन्धन केंद्र के माध्यम से जागेश्वर धाम में ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन के अन्तर्गत विधानसभा अध्यक्ष ने काम्पेक्टर प्लांट का शुभांरभ किया। उन्होंने कहा कि इस प्लांट के लग जाने से प्लास्टिक बोतलों, कागज के गतों को रिसाइकिलिंग कर बाहर भेजने की मदद मिलेगी। साथ ही इस अभियान से जागेश्वर धाम को और स्वच्छ बनाने में भी मदद मिलेगी।

योग महोत्सव का आयोजन | कुंजवाल ने कहा कि पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी योग महोत्सव का आगाज किया जायेगा। पिछले वर्ष योग महोत्सव से पर्यटकां की संख्या में भारी इजाफा देखने को मिला था।

विकसित होगा जागेश्वर |  उन्होंने बताया कि जागेश्वर से दन्या तक के क्षेत्र को विकसित करने के लिये अनेक संस्थानों को स्थापना की जा रही है ताकि यह क्षेत्र एक विकसित नगर के रूप में अपनी पहचान बना सके। इसके अलावा गरूड़ाबॉज में मुंशी हरिप्रसाद टम्टा पारम्परिक शिल्प उन्नयन संस्थान हेतु 39 करोड़ रूपये की स्वीकृति मिल चुकी है जिसके तहत शीध्र कार्य कराये जायेंगे साथ ही झांकरसैम के समीप 1 करोड़ रूपये की लागत से हटों का निर्माण कराया जा रहा है ताकि बाहर से आने वाले पर्यटकों को इस लाभ मिल सके। उन्होंने बर्मी कम्पोस्ट पिट, कूड़ा संग्रहण केन्द्र व कूड़ा दहन केन्द्र का भी उद्घाटन मंदिर परिसर के समीप किया।

सांस्कृतिक हब बनेगा जागेश्वर | जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष प्रंशात भैंसोडा ने कहा कि इस जागेश्वर क्षेत्र को सांस्कृतिक हब बनाने के साथ-साथ इसके समीपस्थ मंदिरों को रोप-वे से जोड़ने का भी प्रयास भी हमें करना होगा।

जनहित में खर्च होगा पैसा | जागेश्वर मंदिर समिति के अध्यक्ष व जिलाधिकारी ने भी बताया कि मंदिर की आय का 85 प्रतिशत पैंसा जनहित में तथा अन्य 15 प्रतिशत अन्य कामों हेतु खर्च किया जायेगा। मंदिर कमेटी द्वारा 04 पर्यावरण मित्र व 04 हाथ गाड़ी क्रय की व्यवस्था की गई साथ ही वहां पर प्रतिष्ठानों को जैविक व अजैविक कूड़ा संग्रहण हेतु कूडे दान उपलब्ध कराये गये है ताकि उसे कौम्पेक्टर प्लांट में लाने में सुविधा हो सकें।