अच्छी ख़बर | अब तत्काल टिकट कैंसिल कराने पर भी मिलेगा रिफंड

रेल यात्रियों के लिए अच्छी ख़बर आई है। रेल मंत्रालय की ओर से 1 जुलाई से नियमों में बदलाव किया जा रहा है, जिसमें तत्काल टिकट कैंसिलेशन पर 50 प्रतिशत रिफंड के अलावा पेपरलेस टिकटिंग और कन्फर्म टिकट देना शामिल है। फिलहाल तत्काल टिकट कैंसिल करवाने पर रेलवे से कोई रिफंड नहीं मिलता है। अब ख़बरें एक क्लिक पर इस लिंक पर क्लिक कर Download करें Mobile App – उत्तराखंड पोस्ट

वहीं रेलवे रिजर्वेशन नियमों में भी बदलाव करने जा रही है। नए नियमों के मुताबिक चलती ट्रेन में आरएसी टिकट को भी कंफर्म माना जाएगा। इसके साथ ही एसी और स्लीपर क्लास के लिए तत्काल टिकट का एक-एक घंटे तक बुकिंग टाइम बढ़ाया जाएगा। अभी एसी क्लास में तत्काल टिकट की बुकिंग सुबह 10 से 11 जबकि स्लीपर क्लास के टिकट की बुकिंग 11 से 12 बजे तक होती है। दोनों के समय को एक-एक घंटे बढ़ाए जाने का प्रस्ताव है। हालांकि ट्रेन के चार्ट रिलीज होने तक तत्काल टिकट करवाने का प्रावधान है, बशर्ते तत्काल का कोटा बकाया हो।

रेलवे अधिकारियों के मुताबिक मंजूरी मिलने के बाद क्रिस सिस्टम में बदलाव कर यात्रियों को नई सुविधाएं दी जाएंगी, यात्रियों को कंफर्म और आरएसी बर्थ अलॉट की जाएगी। इसके अलावा एक ही नंबर की दो अलग-अलग ट्रेन चलाने की भी तैयारी हो रही है। इसके अलावा सभी प्रीमियम ट्रेनों में शुरू किए गए फ्लेक्सी फेयर सिस्टम को समाप्त किया जाएगा। यह 6 महीने के लिए ट्रायल पर था लेकिन रिजल्ट बहुत सकारात्मक नहीं रहे।। इसके अलावा प्रीमियम ट्रेन राजधानी और शताब्दी में पावर कोच को हटाकर यात्री कोच लगाया जाएगा, पावर कोच को हटाना भी एक नया ट्रायल है।

सआथ ही लंबी दूरी की ट्रेनों में वेटिंग लिस्ट के टिकट बंद किए जाएंगे। शताब्दी ट्रेनों में सफर के बढ़ते रुझान के मद्देनजर यात्रियों को कंफर्म सीट उपलब्ध करवाने के लिए कोचों की संख्या बढ़ाई जाएगी। रेलवे वेटिंग लिस्ट टिकट बुकिंग सिस्टम को 1 जुलाई से बंद करेगा। शताब्दी ट्रेनों के यात्रियों को पेपरलैस टिकटिंग की सुविधा मिलेगी, उनके दिए मोबाइल नंबर पर टिकट मिलेगी।