मोदी का कांग्रेस पर बड़ा हमला, कहा- ये तीन शब्द कांग्रेस का चरित्र दर्शाते हैं

175

रोहतक (उत्तराखंड पोस्ट) लोकसभा चुनाव में राजनीति इस समय अपने चरम पर है। बीजेपी औऱ कांग्रेस इस समय एक-दूसरे पर निशाना साधने का कोई मौका नही छोड़ रहे है। एक तरफ राजीव गांधी को लेकर पीएम मोदी के बयान पर घमासान जारी है तो वहीं दूसरी तरफ बीजेपी ने 1984 के सिख दंगों पर सैम पित्रोदा के विवादित बयान पर कांग्रेस पर हमलावर हो गयी है।

शुक्रवार को पीएम मोदी ने रोहतक रैली में पित्रोदा के बयान से सिख दंगों पर कांग्रेस को घेरा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंडियन ओवरसीज कांग्रेस (आईओसी) प्रमुख सैम पित्रोदा के 1984 दंगों पर दिए गए बयान पर जमकर हमला किया। पीएम मोदी ने कहा कि इनके लिए जीवन की कोई कीमत नहीं है। इनके ये तीन शब्द कांग्रेस के चरित्र को दर्शाते हैं।

पीएम मोदी ने कहा, ‘देश पर सबसे ज्यादा समय तक राज करने वाली कांग्रेस कितनी असंवेदनशील रही है, उसका प्रतीक है कल बोले गए तीन शब्द, ये (शब्द) ऐसे नहीं निकले हैं। ये शब्द कांग्रेस का चरित्र हैं, कांग्रेस की मानसिकता हैं, कांग्रेस के इरादे हैं। वे तीन शब्द कौन से हैं, ‘हुआ तो हुआ।’ आप सोचेंगे कि मोदीजी क्या बोल रहे हैं, मैं विस्तार में बताता हूं। कांग्रेस का अहंकार, कांग्रेस को चलाने वालों का अहंकार इन्हीं तीन शब्दों में हम भलीभांति समझ सकते हैं…हुआ तो हुआ।’

जनसभा के दौरान नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘कल कांग्रेस के सबसे बड़े नेताओं में से एक ने चीख-चीखकर 1984 के दंगों के बारे में कहा कि चौरासी का दंगा हुआ तो हुआ। आपको पता है कि यह नेता कौन है। यह नेता गांधी परिवार का सबसे करीबी है, गांधी परिवार के सारे लोग के साथ हर रोज बैठना-उठना है। यह नेता गांधी परिवार का सबसे बड़ा राजदार है। यह नेता राजीव गांधी के बहुत अच्छे दोस्त और राहुल गांधी के गुरु हैं। इन्होंने कल टीवी के सामने साफ-साफ बोल दिया कि अगर चौरासी हुआ तो…हुआ तो हुआ।’

पीएम ने राजीव गांधी को भी निशाने पर लेते हिए कहा कि उन्होंने कहा था कि जब एक बड़ा पेड़ गिरता है तो धरती हिलती है।’ पीएम ने कहा कि कांग्रेस ने कमलनाथ को पंजाब का प्रभारी बना दिया था और अब उन्हें मध्य प्रदेश का सीएम बना दिया। यह किसी एक शख्स का बयान नहीं है।

हमारा Youtube  चैनल Subscribe करेंhttp://www.youtube.com/c/UttarakhandPost 

हमें ट्विटर पर फॉलो करेंhttps://twitter.com/uttarakhandpost

मारा फेसबुक पेज लाइक करें – https://www.facebook.com/Uttrakhandpost/