पुलिस ने दर्ज नहीं की कांस्टेबल की बोलेरो चोरी की रिपोर्ट तो कोतवाली में उठा लिया घातक कदम, मची सनसनी

214

नैनीताल (उत्तराखंड पोस्ट) नैनीताल जिले से एक सनसनीखेज खबर सामने आयी है जिसके मुताबिक यहां एक एक कांस्टेबल ने अपने ही विभाग की व्यवस्था पर सवाल उठाते सोमवार को मल्लीताल कोतवाली के ऊपर बने बैरक में जहर गटक लिया। इसके पीछे वजह बताई गयी कि कांस्टेबल की बोलेरो कथित रूप से चोरी होने और रिपोर्ट दर्ज नही की जा रही थी।

इसके बाद पुलिस ने देर रात कार बोलेरो चोरी की रिपोर्ट दर्ज कर ली है। जहर खाने से पहले उसने सोशल मीडिया पर पत्र, फोटो और वीडियो भी शेयर किए। हालत बिगड़ने पर पुलिसकर्मी उसे बीडी पांडे अस्पताल ले गए, जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। कांस्टेबल किच्छा क्षेत्र में तैनात है।

जानकारी के अनुसार नैनीताल कोतवाली में तैनाती के दौरान कांस्टेबल ने 2012 में मोहन सिंह से बोलेरो खरीदी थी, लेकिन बोलेरो उनके नाम पर दर्ज नहीं हो पाई थी। किस्त जमा न होने पर दोनों में विवाद चल रहा है। कांस्टेबल को इसी सिलसिले में सोमवार को डीआईजी ने बुलाया था। डीआईजी कार्यालय से वह मल्लीताल कोतवाली के ऊपर बने बैरक में चला गया। इसी दौरान उसने जहर गटक लिया।

बताया जा रहा है कि कांस्टेबल पहले भी दो बार आत्महत्या का प्रयास कर चुका है। कोतवाल ध्यान सिंह ने बताया कि कांस्टेबल ने कार विक्रेता के खिलाफ तहरीर दी है। जिसके आधार पर मुकदमा दर्ज किया गया है।

पुलिस उपमहानिरीक्षक के नाम लिखे प्रार्थना पत्र में कहा है कि वह वर्ष 2015 में मल्लीताल कोतवाली में तैनात था। उसी दौरान उसकी बोलेरो कोतवाली परिसर से चोरी हो गई थी, जिसमें उसके सरकारी कागजात और सामान भी था। बताया कि बोलेरो को 20 दिसंबर 2015 को टीपीनगर चौकी पुलिस बरामद कर चुकी है, लेकिन स्वामित्व संबंधी कागजात न होने के कारण वाहन और सामान उन्हें नहीं मिला है। उनके वाहन और सामान के चोरी होने की रिपोर्ट तक पुलिस ने नहीं लिखी है।

हमारा Youtube  चैनल Subscribe करें http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost 

हमें ट्विटर पर फॉलो करेंhttps://twitter.com/uttarakhandpost

हमारा फेसबुक पेज लाइक करें – https://www.facebook.com/Uttrakhandpost/