लड़की ने पहना था ‘लेस वाला अंडरवियर’, कोर्ट ने छोड़ा रेप का आरोपी

496

नई दिल्ली (उत्तराखंड पोस्ट) आयरलैंड में हुए एक रेप केस को लेकर पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर एक आंदोलन छिड़ा हुआ है। दरअसल, आयरलैंड के कॉर्क में एक रेप पीड़िता को गलत साबित करने के लिए वकील ने लड़की की अंडरवियर का सहारा लिया।

आज तक की खबर के अनुसार वकील का कहना था कि लड़की ने लेस वाला अंडरगारमेंट पहना था जो यह साबित करता है कि वह संबंध बनाने के लिए सहमत थी, इस केस में आरोपी को बरी कर दिया गया।

क्या ये सबूत इस संभावना को नहीं दिखाते हैं कि लड़की आरोपी की तरफ आकर्षित थी और किसी से मिलने और साथ होने के लिए तैयार थी? आपको यह देखना पड़ेगा कि उसने किस तरह की ड्रेस पहनी हुई थी। केस के दौरान बचाव पक्ष की वकील एलिजाबेथ कोनेल के ये तर्क सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गए और सोशल मीडिया पर अंडरवियर की तस्वीरों के साथ #ThisIsNotConsent मूवमेंट चलने लगा।

केस ट्रायल में सबूत के तौर पर अंडरगारमेंट दिखाने की वजह से हर तरफ विरोध प्रदर्शन हो रहा है और सोशल मीडिया पर #thisisnotconsent हैशटैग से अपने अंडरगारमेंट की तस्वीरों को पोस्ट कर न्याय की मांग की जा रही है।

Follow us on twitter – https://twitter.com/uttarakhandpost

Like our Facebook Page – https://www.facebook.com/Uttrakhandpost/