ट्रंप को भारत का जवाब- मोदी ने नहीं की मध्यस्थता की बात, कश्मीर सिर्फ द्विपक्षीय मसला

नई दिल्ली (उत्तराखंड पोस्ट) पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के सामने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कश्मीर को लेकर बहुत बड़ा झूठ बोला है, ट्रंप ने ये झूठ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लेकर बोला है।

इमरान खान की मौजूदगी में ट्रंप ने कहा कि कश्मीर पर मोदी ने मुझसे मदद मांगी। ट्रंप ने ये भी कहा कि कश्मीर पर मध्यस्थता करने के लिए मैं तैयार हूं। ट्रंप के बयान की गूंज आज संसद के दोनों सदनों में भी सुनाई दी।

विपक्ष इस बयान को पीएम मोदी से स्पष्टीकरण की मांग कर रहा है। इस बीच विदेश मंत्री एस जयशंकर ने राज्यसभा में कहा कि मोदी ने कभी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से मध्यस्थता के लिए नहीं कहा।

विदेश मंत्री ने कहा, ”मैं स्पष्ट तौर पर सदन को आश्वस्त करना चाहता हूं कि मोदी ने कभी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से मध्यस्थता के लिए नहीं कहा। कश्मीर भारत-पाक का द्विपक्षीय मुद्दा है। इसे दोनों देश मिलकर सुलझाएंगे। पाकिस्तान पहले आतंकवाद पर लगाम लगाए। कश्मीर मसले पर शिमला और लाहौर संधि के जरिए ही आगे बढ़ेंगे।” इससे पहले विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता भी रवीश कुमार ने भी अमेरिकी राष्ट्रपति के बयान का खंडन किया था। उन्होंने भी कहा कि पीएम मोदी की ओर ऐसी कोई भी मांग नहीं की गई।

Youtube Videos– http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost 

Follow Twitter Handle– https://twitter.com/uttarakhandpost                              

Like Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost