जानिए बागेश्वर कांग्रेस में हरीश रावत का खेल या फिर सच में है बगावत !

2490

नामांकन प्रक्रिया के आखिरी दिन कांग्रेस के साथ ही मुख्यमंत्री हरीश रावत को एक और बड़ा झटका लगा है। बागेश्वर विधानसभा से रणजीत दास ने बतौर निर्दलीय उम्मीदवार अपना नामांन दाखिल किया है।

अब ख़बरें एक क्लिक पर इस लिंक पर क्लिक कर Download करें Mobile App –https://play.google.com/store/apps/details?id=app.uttarakhandpost

रणजीत दास मुख्यमंत्री हरीश रावत के खास माने जाते हैं और वे सीएम रावत के ओएसडी भी थे। दास बागेश्वर से कांग्रेस के टिकट के प्रबल दावेदार थे लेकिन टिकट ना मिलने पर आज उन्होंने आजाद उम्मीदवार के तौर पर नामांकन कर सबको चौका दिया। गौरतलब है कि कांग्रेस ने बागेश्वर से दास पर बाल किशन को तरजीह देते हुए अपनी दूसरी सूची में उनका नाम घोषित किया।

जाहिर है हरीश रावत के खासम खास का पार्टी से बगावत कर अधिकृत प्रत्याशी के खिलाफ मैदान में उतरा पार्टी के साथ ही रावत के लिए भी बड़ा झटका है।

DAS

हालांकि सूत्रों के हवाले से खबर ये भी मिल रही है कि मुख्यमंत्री रावत ने जानबूझकर रणजीत जास से पर्चा भरवाया है और पार्टी आखिरी वक्त में यहां से अपने अधिकृत उम्मीदवार से सिंबल वापस लेकर रणजीत दास को समर्थन देने का ऐलान कर सकती है।

बहरहाल देखना होगा कि बागेश्वर सीट पर रणजीत दास का पर्चा दाखिल करना एक रणनीति है या फिर वाकई में दास चुनावी मैदान में कांग्रेस प्रत्याशी को ही चुनौती देंगे।