आज से खत्म हो गई है इन 6 बैंकों की पहचान, जानिए ग्राहकों पर क्या होगा असर

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) 1 अप्रैल यानी आज से नए बैंकिंग सेक्टर में बड़े बदलाव हो रहे हैं।दरअसल, आज से 10 बैंकों का विलय प्रभावी हो रहा है, इस विलय के तहत देश के 6 सरकारी बैंकों का नाम और पहचान खत्म हो जाएगी।

ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, आंध्र बैंक, कार्पोरेशन बैंक, इलाहाबाद बैंक, सिंडिकेट बैंक वो बैंक हैं। अब सवाल ये है कि इन बैंकों का क्या होगा और इनके ग्राहकों पर इसका क्या असर होगा।

आम आदमी को बड़ा झटका, इन योजनाओं की ब्याज दरों में की भारी कटौती

इन 6 बैंको का देश के अन्य 4 बैंक में विलय होगा। ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में विलय किया जा रहा है।

वहीं, सिंडीकेट बैंक का केनरा बैंक में, आंध्र बैंक और कार्पोरेशन बैंक का यूनियन बैंक ऑफ  इंडिया में विलय हो रहा है। इसी तरह, इलाहाबाद बैंक का इंडियन बैंक में विलय किया किया जा रहा है।

लॉकडाउन | जिंदा शख्स को मरा बताकर ऐंबुलेंस से जा रहे थे घर, पुलिस ने पकड़ा

विलय के बाद आपको एक नया खाता नंबर और कस्टमर आईडी मिल सकती है। नए चेकबुक समेत अन्य चीजें जारी हो सकती हैं। हालांकि, ये सब आज ही से लागू नहीं होगा। इसे बैंकों की ओर से धीरे—धीरे लागू किया जाएगा।

आपके लिए जरूरी ये है कि आपके ईमेल पता/ और मोबाइल नंबर का बैंक के शाखा के साथ अपडेट हों ताकि आ पको बैंक की ओर से बदलाव की सूचना मिल सके।

इतने रुपये सस्ता हुआ घरेलू रसोई गैस सिलेंडर, आज ले लागू होंगी नई दरें

इस विलय के पूरा होने के बाद सरकारी क्षेत्र में 7 बड़े और पांच छोटे बैंक रह जाएंगे। साल 2017 तक देश में सार्वजनिक क्षेत्र के 27 बैंक थे। लेकिन अब इस नए वित्त वर्ष में देश में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की संख्या 18 से घटकर 12 रह गए हैं।

Youtube – http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost

Twitter– https://twitter.com/uttarakhandpost                                

Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost