त्रिवेंद्र मंत्रिमंडल का विस्तार जल्द, इन जिलों के विधायकों का लगेगा नंबर!

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जल्द अपने मंत्रिमंडल का विस्तार कर सकते हैं। करीब 40 से ज्यादा भाजपा विधायक मंत्री पद पाने की कतार में शामिल हैं। हालांकि मंत्रिमंडल विस्तार में उन्हीं विधायकों को मौका मिलेगा, जो क्षेत्रीय व जातीय संतुलन के पैमाने पर फिट बैठेंगे।

वर्तमान की अगर बात करें तो  पिथौरागढ़, बागेश्वर, चंपावत, नैनीताल, उत्तरकाशी, चमोली और रुद्रप्रयाग से कोई विधायक मंत्री नहीं है। जबकि मंत्री मंडल में सर्वाधिक तीन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत, सतपाल महाराज और डॉ. धनसिंह रावत पौड़ीजिले से हैं। ऊधमसिंह नगर से दो मंत्री यशपाल आर्य व अरविंद पांडेय हैं तो अल्मोड़ा से रेखा आर्या और सेदेहरादून जिले से स्वयं मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, हरिद्वार से मदन कौशिक और टिहरी जिले का प्रतिनिधित्व मंत्रिमंडल में सुबोध उनियाल कर रहे हैं।

आपको बता दें कि त्रिवेंद्र मंत्रिमंडल में अभी तीन स्थान खाली हैं। इनमें से दो तो सरकार गठन के वक्त से औऱ तीसरा स्थान कैबिनेट मंत्री प्रकाश पंत के निधन के चलते रिक्त हुआ है। खबरों के मुताबिक मद्देनजर मंत्रिमंडल विस्तार में उन्हीं जिलों को तरजीह मिलने की संभावना है, जिनका प्रतिनिधित्व अभी मंत्रिमंडल में नहीं है। मतलब पिथौरागढ़, बागेश्वर, चंपावत, नैनीताल, उत्तरकाशी, चमोली और रुद्रप्रयाग जिलों के विधायकों को मंत्रीपद क्षेत्रीय व जातीय संतुलन के पैमाने पर मिलने की संभावना है। हालांकि जोडतोड़ में तो सभी विधायक लगे हैं।