U-19 WC | भारत का सपना टूटा, पहली बार चैम्पियन बना वेस्टइंडीज

565

West-Indiesअंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप के फाइनल मुकाबले में वेस्टइंडीज ने भारत को 5 विकेट से हराने के साथ ही वर्ल्ड कप ट्रॉफी पर पहली बार कब्जा किया। वेस्टइंडीज की ओर से कीसी कार्टी ने 52 और कीमो पॉल ने 40 रनों की नाबाद पारी खेलकर टीम को जीत तक पहुंचा दिया। कार्टी को ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया, वहीं बांग्लादेश के ऑलराउंडर मेहंदी हसन मिराज को मैन ऑफ द टूर्नामेंट घोषित किए गए।

टॉस हारने के बाद बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम पूरे 50 ओवर भी नहीं खेल पाई औऱ पूरी टीम 45.1 ओवर में ही पवेलियन लौट गए। भारतीय टीम निराशाजनक प्रदर्शन करते हुए सरफराज खान (51) के अर्धशतक के बावजूद 45.1 ओवर में 145 रन पर ढेर हो गई। वेस्टइंडीज के गेंदबाजों ने सुबह पिच में मौजूद नमी का पूरा फायदा उठाया। अलजारी जोसेफ और रेयान जान ने तीन-तीन विकेट हासिल किए। केमार होल्डर ने किफायती गेंदबाजी करते हुए भारतीय बल्लेबाजों पर दबाव बनाए रखा। उन्होंने 10 ओवर में सिर्फ 20 रन दिए और महिपाल लोमरोर का विकेट भी हासिल किया।

छोटे लक्ष्य का पीछा करते हुए वेस्टइंडीज ने एक समय पांच विकेट 77 रन पर गंवा दिए थे लेकिन कीसी कार्टी (नाबाद 52) और कीमो पॉल (नाबाद 40) ने संयमित पारियां खेलते हुए कैरेबियाई टीम को खिताबी जीत की मंजिल पर पहुंचा दिया। वेस्टइंडीज ने 49.3 ओवर में पांच विकेट पर 146 रन बनाए।

भारत का इस हार के साथ चौथी बार यह खिताब जीतने और अपने कोच राहुल द्रविड़ को पहला विश्वकप का तोहफा देने का सपना टूट गया। वेस्टइंडीज ने पहली बार अंडर 19 विश्वकप खिताब को अपने नाम किया।

वेस्टइंडीज की टीम इससे पहले 2003-04 विश्वकप के फाइनल में पाकिस्तान से हारी थी। वेस्टइंडीज ने 2007-08 में प्लेट फाइनल जीता था और अब उसने विश्वकप खिताब अपने नाम कर लिया।