उक्रांद का घोषणापत्र, गैरसैण राजधानी और शराब बंदी का वादा

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए उत्तराखंड क्रांति दल (उक्रांद) ने अपना चुनाव घोषणा पत्र जारी कर दिया है। उक्रांद ने राजधानी गैरसैंण बनाने के साथ शराब बंदी लागू करने की बात कही है। वहीं बिजली-पानी मुफ्त तो रसोई गैस व बस किराये को आधा करने का वादा भी किया गया है।

देहरादून में आयोजित पत्रकार वार्ता में उक्रांद के पूर्व अध्यक्ष त्रिवेंद्र सिंह पंवार ने घोषणा पत्र जारी करते हुए कहा कि अब तक राष्ट्रीय दलों ने उत्तराखंड को लूटने का काम किया है। उक्रांद सत्ता में आई तो वह सपना पूरा किया जाएगा, जिसके लिए राज्य का गठन हुआ था।

20-30-43-06_02_2017-ukdmenifesto

उन्होंने कहा कि जिलों की संख्या 23 की जाएगी और विधानसभा सीटों व विकासखंडों की संख्या बढ़ाने के लिए केंद्र के समक्ष बात रखी जाएगी। शिक्षा के निजीकरण को रोकेंगे। निजी स्कूल-कॉलेजों में राज्य के 30 फीसद छात्रों को निश्शुल्क शिक्षा देंगे। महिलाओं की सुरक्षा और सशक्तीकरण के लिए अलग नीति बनाएंगे।
उन्होंने बताया कि कृषि भूमि पर महिलाओं को मालिकाना हक देंगे, तो वन पंचायतों में 50 फीसद प्रतिनिधित्व। उत्तराखंड में अब तक हुए घोटालों की जांच और मुजफ्फरनगर कांड के दोषियों को सजा दिलाने के लिए आयोग गठित होंगे।

राज्य आंदोलनकारियों पर दर्ज फर्जी मुकदमे वापस लेने के साथ अस्थायी कर्मचारियों को स्थायी किया जाएगा। आर्थिक रूप कमजोर वर्ग के साथ महिलाओं, अनुसूचित जाति और जनजाति के लोगों को निश्शुल्क कानूनी सहायता मिलेगी। उक्रांद नेता बीडी रतूड़ी ने कहा कि युवाओं को रोजगार की गारंटी देने के साथ ही पलायन रोकने के लिए भी प्रभावी नीति बनाई जाएगी।