मुख्यमंत्री ने की गन्ना एवं चीनी विभाग की समीक्षा, बंद चीनी मिलों पर दिए ये निर्देश

148

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरूवार को सचिवालय में गन्ना एवं चीनी विभाग की समीक्षा के दौरान बन्द चीनी मिलों गरदपुर एवं सितारगंज के सम्बन्ध में व्यवहारिकता के दृष्टिगत एवं किसानों के व्यापक हितों को ध्यान में रखते हुए 10 दिन के अन्दर स्पष्ट कार्ययोजना प्रस्तुत करने के निर्देश दिये हैं।

मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिये हैं कि बाजपुर व नादेही चीनी मिलों के आधुनिकीकरण एवं विद्युत उत्पादन के लिये यू.जे.वी.एन.एल के मध्य हुए एग्रीमेंट के तहत अविलम्ब कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। उन्होंने इस दिशा में विभागीय स्तर पर की जाने वाली कार्यवाही की धीमी प्रगति पर असन्तोष व्यक्त करते हुए चीनी मिलों के सुधारीकरण व किसानों के व्यापक हितों के दृष्टिगत विभागीय स्तर पर स्पष्ट कार्य योजना तैयार कर 10 दिन के बाद वित्त एवं ऊर्जा सचिव के साथ आयोजित हाने वाली बैठक में रखने को कहा।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि इस उच्च स्तरीय बैठक में विभागीय स्तर पर चीनी मिलों के संबंध में जो भी कार्य किये जाने होंगे, उन पर निर्णय लिया जायेगा। उन्होंने कहा कि योजनाओं के क्रियान्वयन में देरी नहीं होनी चाहिए। समस्याओं का त्वरित समाधान जरूरी है। उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिये कि योजनाओं के क्रियान्वयन में किसानों के व्यापक हितों को ध्यान में रखा जाना चाहिए।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने समीक्षा के दौरान गन्ना उत्पादन, गन्ना पेराई, गन्ना मूल्य भुगतान की जानकारी प्राप्त करते हुए कहा कि गन्ना किसानों की समस्याओं का त्वरित समाधान किया जाना चाहिए, उन्होंने प्राकृतिक विधि से गन्ने की खेती पर भी ध्यान देने को कहा।

उन्होंने गन्ना विकास परिषदों, गन्ना किसान संस्थान एवं प्रशिक्षण केन्द्र व सहकारी गन्ना विकास समितियों को अधिक सक्रियता से कार्य करने को कहा, मुख्यमंत्री ने चीनी मिलों के आधुनिकीकरण, गन्ना उत्पादों के विविधीकरण, ऊर्जा उत्पादन, एथेनाल उत्पादन, आसवानी तथा पी.डी.एस में चीनी को सम्मिलित करने, गन्ने के साथ इण्टर कापिंग व निर्यात की संभावनाओं पर विभागीय स्तर पर स्पष्ट कार्य योजना आगामी बैठक में प्रस्तुत करने को कहा ताकि इन सभी विषयों पर निर्णय लिया जा सके।

मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने इकबालपुर चीनी मिल से जुड़े गन्ना किसानों के बकाया गन्ना मूल्य भुगतान को सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिये। इसके लिए टाईम फ्रेम निर्धारित कर दिया जाए। गन्ना चीनी विभाग, गन्ना समितियों के प्रतिनिधियों व मिल प्रबंधकों के साथ मुख्यमंत्री आवास में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने यह निर्देश दिए। तय किया गया कि इकबालपुर मिल प्रबंधन पीएनबी व यूसीबी से ऋण लेगी। इस ऋण का प्रयोग किसानों के बकाया भुगतान में किया जाएगा।

इसके अतिरिक्त चीनी के स्टाक को निकालकर भी प्राप्त राशि का उपयोग बकाया भुगतान में किया जाएगा।  बैठक में राज्य स्तरीय बीस सूत्री कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति के उपाध्यक्ष नरेश बंसल, मुख्यमंत्री के सलाहकार डॉ.नरेंद्र सिंह तोमर, सचिव अमित नेगी, सौजन्या, हरबंस सिंह चुघ, प्रबंध निदेशक गन्ना एवं चीनी चंद्रेश यादव, गन्ना आयुक्त ललित मोहन रयाल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।।

Youtube – http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost          

Twitter– https://twitter.com/uttarakhandpost                 

Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost