कानपुर में गंगा सफाई पर मंथन, मोदी ने की अब तक हुए कार्यों की समीक्षा

कानपुर (उत्तराखंड पोस्ट) मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कानपुर में प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में राष्ट्रीय गंगा परिषद् की पहली बैठक में शिरकत की।

नमामि गंगा प्रोजेक्ट पर आयोजित इस बैठक में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत शामिल हुए। इस बैठक में नीतीश कुमार का पहुंचना तय था, बिहार सीएम नीतीश कुमार के स्वागत में पोस्टर लग चुके थे, लेकिन नीतीश कुमार ने अपना कानपुर दौरा अचानक रद्द कर दिया। नीतीश कुमार की जगह डिप्टी सीएम सुशील मोदी बैठक में पहुंचे।

वहीं इस बैठक में केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के अलावा गंगा किनारे स्थित सभी पांच राज्यों के कई मंत्री, मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव भी मौजूद रहे। गंगा को निर्मल और अविरल बनाने के लिए अभी तक जो भी कार्य हुए हैं, पीएम मोदी ने उनकी समीक्षा की। इसके साथ ही आने वाले समय में गंगा को स्वच्छ और उसके किनारों को सुंदर बनाने के लिए क्या-क्या किया जा सकता है, इसकी कार्ययोजना पर मंथन हुई। समीक्षा बैठक के बाद पीएम मोदी क्रूज से गंगा दर्शन किया।

इस दौरान उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने कहा कि मां गंगा को गोमुख से गंगासागर तक स्वच्छ, निर्मल, अविरल बनाने के लिए प्रधानमंत्री जी ने जो संकल्प लिया है उसका सकारात्मक असर दिखने लगा है।

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी के साथ ही मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने गंगा परिषद् की बैठक के बाद गंगा में नौकाविहार किया।

मुख्यमंत्री ने साथ ही कहा कि गंगा की स्वच्छता की जिम्मेदारी हम सभी को गंभीरता से लेनी होगी। उत्तराखंड में नमामि गंगे के तहत 21 प्रोजेक्ट चल रहे हैं जिसमें से 10 पूरे हो चुके हैं। 34 सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट में से 21 का निर्माण पूरा हो चुका है।

Youtube – http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost 

Twitter– https://twitter.com/uttarakhandpost                 

Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost