संकट में भी ‘मिस्टर कूल’ नजर आए CM रावत

Capture28 मार्च को मुख्यमंत्री हरीश रावत को सदन में विश्वास मत हासिल करना है। विश्वासमत से एक दिन पहले बागी विधायक हरीश रावत का स्टिंग ऑपरेशन मीडिया के सामने जारी करते हैं। हरीश रावत पर सरकार को बचाने के लिए विधायकों की खरीद –फरोख्त का गंभीर आरोप लगता है, लेकिन देहरादून में हरीश रावत इस सब से बेफिक्र दिखाई देते हैं या कहें कि खुद को कूल दिखाने की कोशिश कर रहे हैं। (पढ़ें-बड़ी खबर|बागी विधायकों ने किया हरीश रावत का स्टिंग)

Capture2दिल्ली में स्टिंग ऑपरेशन की सीडी सामने आने के बाद मुख्यमंत्री जिस तरह देहरादून में जनता के बीच पान का आनंद लेते हुए दिखाई दिए। राजपुर रोड में राजीव भवन में कार्यकर्ताओं से विनम्रता से मिलते हुए नजर आए, उसे देखकर तो कोई नहीं कह सकता कि एक दिन बाद 28 मार्च को मुख्यमंत्री हरीश रावत की कुर्सी जाने की संभावनाएं भी हैं। (पढ़ें-CM रावत ने स्टिंग को बताया फर्जी, बागियों पर साधा निशाना)

सड़क पर पान खाने के लिए गाड़ी रोकना, कार्यकर्ताओं से विनम्रता से मिलना इस सब के जरिए मुख्यमंत्री हरीश रावत भले ही खुद को टेंशन में भी कूल दिखाने की कोशिश रावत जरूर कर रहे हैं लेकिन दिल्ली में स्टिंग ऑपरेशन की सीडी मीडिया के सामने आने के बाद देहरादून में पहली बार प्रेस कांफ्रेंस के दौरान हरीश रावत असहज नजर आ रहे थे। हरीश रावत ने अपनी बात कही और बिना किसी सवालों के जवाब दिए प्रेस काफ्रेंस से उठकर चल दिए। जाहिर है 28 मार्च की टेंशन ने रावत की नींद उड़ा ही रखी थी और रही सही कसर स्टिंग ऑपरेशन ने पूरी कर दी। (पढ़ें-BJP ने की रावत सरकार को बर्खास्त करने की मांग)