इंस्पेक्टर दिग्पाल की गढ़वाली कविता, ‘भैजी कोरोना कु डर मनई, तू घर मा रई’ ने मचाई धूम

उत्तरकाशी (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तरकाशी में तैनात उत्तराखंड पुलिस में इंस्पेक्टर दिग्पाल सिंह कोहली ने कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए लोगों को जागरुक करने के लिए गढ़वाली में कविता लिखी है।

भैजी कोरोना कु डर मनई

तू घर मा रई

अति जरूरी न हो त भैर न जई

तू घर मा रई

 

साफ सफाई रखी बार बार हाथ धोई

खांसी झींक आली त अपडू मूक ढकई

भैजी कोरोना कु डर मनई

तू घर मा रई

गौं म भैर कु दगड़या आलू मिलन न जई

सेवा सौंली करी दूर बटी हाथ हिलाई

तू घर मा रई

 

लेंगड़ा की सब्जी गहत की दाल

कोदा की रोटी खई

कुछ दिन मोमो पिजा बर्गर

भैर की चाट भूली जई

तू घर मा रई

 

कै तैं गला न लगई हाथ न मिलइ

बिच की दूरी बनइ रखी

कैका धोर न जई

दोस्ती रिस्तेदारी का दिन

फिर बौड़ी आला बस कुछ दिन खैरी खई

तू घर मा रई

भैजी कोरोना कु डर मनई

घर मा रईए तू घर मा रई

उत्तराखंड पुलिस में इंस्पेक्टर दिग्पाल सिंह कोहली की इश गढ़वाली कविता को लोग खूब पसंद कर रहे हैं। आपको भी पंसद आई तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों तक शेयर करें।

उत्तराखंड के रोचक वीडियो के लिए हमारे Youtube चैनल को SUBSCRIBE जरुर करें-   http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost

Twitter– https://twitter.com/uttarakhandpost                        

Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost

Instagram-https://www.instagram.com/postuttarakhand/