1965 और 1971 में पाक से युद्ध लड़ने वाले जवानों को मिलेगी विशेष पेंशन!

जयपुर (उत्तराखंड पोस्ट) भारतीय सेना 1965 व 1971 में पाकिस्तान के साथ हुए युद्ध में शामिल किए गए सैनिकों को विशेष पेंशन देने की योजना बना रही है।

सशस्त्र बल पूर्व सैनिक दिवस के कार्यक्रम में मंगलवार को सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे ने कहा कि सेना मुख्यालय ने कई प्रस्ताव भेजे हैं, जिनमें से एक में कहा गया कि 1965 व 1971 के दौरान पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध में लड़ने वाले इमरजेंसी कमीशन और शॉर्ट सर्विस कमीशन के सैनिकों को स्वतंत्रता सेनानी सम्मान पेंशन योजना के जैसे ही विशेष पेंशन दी जानी चाहिए।

1965 और 1971 के युद्ध के दौरान अधिकारियों की कमी के चलते बड़ी संख्या में इमरजेंसी और शॉर्ट सर्विस कमीशन के तहत अफसरों को भर्ती किया गया था। अपनी सेवा पूरी करने के बाद जल्द सेना छोड़ देने के कारण इमरजेंसी और शॉट सर्विस कमीशन के तहत चुने गए अफसरों को पेंशन नहीं मिलती है।