चिंताजनक | वीरान हो चुके हैं उत्तराखंड के 1100 गांव, बंजर हो रही जमीन

उत्तरकाशी [उत्तराखंड पोस्ट ब्यूरो] उत्तराखंड में करीब 11 सौ गांव वीरान हो चुके हैं। यही नहीं चार हेक्टेयर के करीब जमीन भी बंजर हो चुकी है। उत्तरकाशी जिले में आयोजित एक कार्यक्रम में प्रदेश के कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने खुद ये बात कही।

उन्होंने कहा कि राज्य बनने के दौरान प्रदेश में लोगों का एक नारा था कि कोदा झंगोरा खायेंगे,अपना राज्य बनायेंगे। लेकिन आज अधिकांश लोग मैदानों की ओर रुख कर रहे हैं। प्रदेश के 1095 गांव तथा 3.97 हजार हेक्टेयर भूमि बंजर हो गई है। वहीं कृषि के क्षेत्र में सत्रह साल में 15 प्रतिशत की कमी आई है। साथ ही उन्होंने कहा कि पर्वतीय क्षेत्र के गांव से हो रहे पलायन को रोकने के लिए सरकार कृषि बागवानी पर कार्य कर रही है।

उनियाल ने कहा कि कहा कि कृषि को बढ़ावा देने के लिए सरकार हर ग्राम पंचायत में कृषि यंत्र बैंक खोलने जा रही है। जहां से किसान किराये पर कृषि यंत्र का प्रयोग कर खेती कर सकेगा। कहा कि बंदरों के आंतक से निजात दिलाने के लिए सरकार कृषि एवं वन विभाग के साथ समन्वय स्थापित कर फलदार पेड़ लगाने की योजना बनाई जा रही है।

(उत्तराखंड पोस्ट के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं, आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here