अचानक ‘फर्श पर’ गिर गया लिंग, अब इस जगह है कि लोग उड़ाते है मजाक

ब्रिटेन (उत्तराखंड पोस्ट) एक शख्स का लिंग कुछ समय पहले फर्श पर गिर गया था। अपनी आंखों के सामने ये सब होता देख शख्स हक्का-बक्का रह गया था। मदार्नगी को खो देने के बाद शख्स डिप्रेशन में चला गया, लेकिन अब चिकित्सकों की मदद से उसे नया लिंग मिल गया है। आपको जानकर हैरानी होगी कि
 
अचानक ‘फर्श पर’ गिर गया लिंग, अब इस जगह है कि लोग उड़ाते है मजाक

ब्रिटेन (उत्तराखंड पोस्टएक शख्स का लिंग कुछ समय पहले फर्श पर गिर गया था। अपनी आंखों के सामने ये सब होता देख शख्स हक्का-बक्का रह गया था।

 

मदार्नगी को खो देने के बाद शख्स डिप्रेशन में चला गया, लेकिन अब चिकित्सकों की मदद से उसे नया लिंग मिल गया है। आपको जानकर हैरानी होगी कि ये लिंग उसके हाथ में है। हैरान हो गए न ? चलिए डीटेल में जानते है क्या है मामला।

 

मामला ब्रिटेन का है। पेशे से मैकेनिक मैल्कम मैकडॉनल्ड की है। मैकडॉनल्ड को गंभीर ब्लड इंफेक्शन के चलते अपना लिंग खो दिया। हालांकि अब वह दुनिया के पहले ऐसे शख्स बन गए हैं जिनकी बांह पर जननांग है।

 

मैकडॉनल्ड के मुताबिक साल 2014 में मुझे एक दीर्घकालिक पेरिनेम संक्रमण का सामना करना पड़ा। इसमें मेरे हाथों-पैरों की अंगुलियां काली पड़ गईं। यहां तक कि मेरा लिंग भी काला पड़ गया। एक समय बाद मैकडॉनल्ड का ये संक्रमण इतना ज्यादा गंभीर हो गया कि मर्दानगी तक खो दी।

 

मैकडॉनल्ड ने बताया कि मैंने संक्रमण के साथ सालों तक संघर्ष किया। लेकिन मुझे पता नहीं था कि क्या हो सकता है। जब मैंने देखा कि मेरा लिंग काला पड़ गया है तो मैं घबरा गया। यह किसी हॉरर फिल्म के जैसा था। मैं बुरी तरह से हताश और दहशत में था।

 

साल 2015 में मैकडॉनल्ड का लिंग अचानक ‘फर्श पर’ गिर गया, हालांकि अंडकोष बरकरार रहे। मैकडॉनल्ड ने लिंग उठाकर बिन में रख दिया। उन्होंने कहा कि मेरा जीवन अलग तरह का हो गया था, क्योंकि मुझमें कोई आत्मविश्वास नहीं था। मैं बहुत ज्यादा शराब पीने लगा था। मैंने परिवार और दोस्तों से दूरी बना ली, मैं अभी इसका सामना नहीं करना चाहता था।

 

इसके बाद मैल्कम को एक दिन एक विशेषज्ञ के बारे में पता चला, जिसने एक बार एक ऐसे व्यक्ति के लिए ‘बायोनिक लिंग’ बनाया था जो इसके बिना पैदा हुआ था। लंदन के यूनिवर्सिटी कॉलेज अस्पताल के प्रोफेसर डेविड राल्फ ने मैल्कम को कथित ‘पेनिस मास्टर’ के बारे में बताया। राल्फ ने ही मैल्कम से कहा कि तुम्हें आर्म ग्राफ्ट ट्रीटमेंट की जरूरत है। इसमें दो साल लग सकते हैं। मैल्कम को इससे आशा की एक किरण दिखी। इस प्रक्रिया में करीब 65,000 डॉलर का खर्च होना था। इसके बाद सर्जन ने मैल्कम की ही रक्त वाहिकाओं और तंत्रिकाओं को लेकर एक नया लिंग तैयार करने की प्रक्रिया शुरू की। लिंग के लिए त्वचा का फ्लैप मैल्कम के दाहिने हाथ से लिया गया। इसके बाद लिंग को बाजू पर प्लांट किया गया।

 

इतन सब तो हो गया लेकिन कोरोना के चलते ये प्रक्रिया अभी पूरी नहीं हो पाई और लिंग अभी उसकी सही जगह पर प्लांट नही हो पाया है। मैल्कम का यह भी कहना है कि इस विचित्र ‘उभार’ को छुपाने के लिए उन्हें अक्सर लंबी आस्तीन की शर्ट पहननी पड़ती है। हालांकि लोग कभी-कभी इसे देख लेते हैं और फिर मजाक उड़ाने लगते हैं।

 

उत्तराखंड के रोचक वीडियो के लिए हमारे Youtube चैनल को SUBSCRIBE जरुर करें   http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost

Twitter– https://twitter.com/uttarakhandpost                        

Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost

Instagram-https://www.instagram.com/postuttarakhand/

From around the web