उत्तराखंड में आम आदमी पार्टी ने शुरु किया "हर गांव कोरोना मुक्त अभियान"

आप प्रभारी ने बताया कि, उनकी टीम कोरोना रोकथाम के लिए हर परिवार को मेडिकल किट मुहैया करवाएगी, साथ ही हर गांव में एक-एक ऑक्सीमीटर और आईआर थर्मामीटर भी दिया जाएगा ,जो निकट भविष्य में भी लोगों के काम आ सके।
 
Aap

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी आम आदमी पार्टी उत्तराखंड में कोरोना संकट काल में लोगों को जागरुरक करने के साथ ही इलाज उपलब्ध कराने की हर संभव कोशिश कर रही है।

शनिवार को आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया के साथ ही हाल ही में आप का दामन थामने वाले कर्नल कोठियाल समेत आप के प्रदेश उपाध्यक्ष दीपक बालीन ने प्रेस कांफ्रेंस की। आप प्रभारी ने कहा कि कोरोना की रोकथाम के लिए आप पार्टी लोगों को जागरुक करने के साथ उनके इलाज की हर मुमकिन कोशिश कर रही है।

उन्होंने कहा कि,अब आप पार्टी प्रदेश में एक नया अभियान शुरु करने जा रही है,"हर गांव कोरोना मुक्त अभियान" इस अभियान के तहत प्रदेश के हर गांव में आप पार्टी ऑक्सीजन जांच केन्द्र खोलेगी। उन्होंने बताया कि, दूसरी लहर ने शहरों के साथ अब गांवों को भी अपनी चपेट में ले लिया है, जिससे लोगों में लगातार संक्रमण फैलता जा रहा है। इसलिए आप पार्टी कोरोना की दूसरी लहर के बचाव के साथ ही, तीसरी लहर से बचाव की भी तैयारियों में जुट गई है।

आप प्रभारी ने बताया कि, इस गंभीर महामारी से निपटने के लिए आम आदमी पार्टी पूरी तरह तैयार है। पार्टी अब प्रदेश के गांव गांव पहुंचकर लोगों के स्वास्थ्य की जांच करने का अभियान शुरू करने जा रही है जिसके तहत आज "हर गांव कोरोना मुक्त अभियान" की शुरुआत की गई। इस अभियान के तहत आप पार्टी के 10,000 कार्यकर्ता इस मुहिम का हिस्सा बनते हुए लोगों की सेहत की जांच करेंगे।


 

उन्होंने बताया कि, ये सभी कार्यकर्ता छोटी छोटी टीमों का हिस्सा बनेंगे जो गांव-गांव पहुंच कर हर एक व्यक्ति की ऑक्सीजन लेवल और थर्मल स्कैनिंग जांच करेंगे। इसके लिए हर टीम को ऑक्सीमीटर, मेडिकल किट और आईआर थर्मामीटर उपलब्ध कराए गए हैं।

आप प्रभारी ने बताया कि, उनकी टीम कोरोना रोकथाम के लिए हर परिवार को मेडिकल किट मुहैया करवाएगी, साथ ही हर गांव में एक-एक ऑक्सीमीटर और आईआर थर्मामीटर भी दिया जाएगा ,जो निकट भविष्य में भी लोगों के काम आ सके।

आप प्रभारी ने बताया कि, पहाडों में डाॅक्टर और स्वास्थय सेवाओं की कमी के कारण लोगों को स्वास्थ्य लाभ नहीं मिल पाता, जिस वजह से पार्टी ने प्रत्येक गांव में ऑक्सीजन जांच केन्द्र खोलने जा रही इसके पहले चरण में हर विधानसभा के 50 गांवों में इस अभियान की शुरुआत की जायेगी। इसके अलावा पार्टी द्वारा सेनिटाइजेशन का काम भी गांवों में युद्धस्तर पर किया जाएगा।

आप के वरिष्ठ नेता कर्नल अजय कोठियाल ने कहा,जिस तरह देश के दुश्मन के खिलाफ सरहद पर वीर जवान चट्टान की तरह खड़े रहते हैं, उसी तरह कोरोना रूपी दुश्मन, जो कि गांव-गांव पहुंचता जा रहा है, के खिलाफ भी खड़े होने की जरूरत है। इसी संकल्प के साथ आप के 10,000 कार्यकर्ता गांव-गांव जाकर लोगों की ऑक्सीजन और थर्मल स्कैनिंग की जांच करेंगे। इसके साथ ही आम आदमी पार्टी हर विधान सभा में आइसोलेशन सेंटर भी खोलेगी जिनमे ऑक्सीमीटर, आईआर थर्मामीटर, ऑक्सीजन सिलिंडर व कॉन्सेंट्रेटर की पर्याप्त व्यवस्था होगी,ताकि कोरोना मरीजों को तत्काल उपचार दिया जा सके।

कर्नल कोठियाल ने कहा, ये वक्त मानव सेवा का वक्त है, और ऐसे समय में आप पार्टी का हर कार्यकर्ता इस महामारी में प्रदेश की जनता के साथ खडा है ,और निस्वार्थ भाव से देवभूमि की जनता की सेवा में जुटा हुआ है। प्रदेश के हर विधानसभा में पार्टी नेता,पदाधिकारी और कार्यकर्ता कोरोना संक्रमितों तथा अन्य जरूरतमंद लोगों की हरसंभव मदद कर रहे हैं।

पार्टी के वरिष्ठ नेता कर्नल (सेवानिवृत्त) अजय कोठियाल ने देहरादून में 20 बेड का मिनी मिलिट्री कोविड अस्पताल खोलकर कोरोना मरीजों  की मदद तो काशीपुर में प्रदेश उपाध्यक्ष दीपक बाली अपने खर्चे से प्रशासन के साथ 20 बेड का कोविड सेंटर चला रहे हैं। जिनमें कोरोना संक्रमितों का निशुल्क इलाज किया जा रहा है।

इसके अलावा पार्टी  के कार्यकर्ता गांव गांव जाकर मेडिकल किट,सेनिटाइजेशन ,ऑक्सीमीटर,ऑटो एंबुलेंस के जरिए जरूरतमंदों को हरसंभव मदद उपलब्ध करवा रहे हैं। कहीं कोरोना संक्रमितों को ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जा रही है, तो कहीं जरूरतमंदों तक भोजन और अन्य जरूरी चीजें पहुंचाई जा रही हैं। कहीं पार्टी कार्यकर्ता निजी वाहनों के जरिए बीमार लोगों को अस्पताल पहुंचा रहे हैं तो कहीं मरीजों के लिए दवा, इंजेक्शन, आईसीयू बेड आदि का इंतजाम कराने में भी लगे हैं। पार्टी का हर कार्यकर्ता इस सेवा में जी जान से जुटा हुआ है और ये सेवा तक तक पार्टी जारी रखेगी जब तक कोरोना से जंग जीतकर  प्रदेश के हालात सामान्य नहीं हो जाते।

From around the web