उत्तराखंड से बुरी खबर, 4 नौसेना अधिकारियों की मौत, राजनाथ सिंह ने जताया शोक

उत्तराखंड से बुरी खबर मिली है। माउंट त्रिशूल पर हिमस्खलन की चपेट में आए नौसेना के 4 अधिकारियों की मौत हो गई है। चारों अधिकारियों के पार्थिव शरीर को 24 घंटे से भी ज्यादा लंबे चले सर्च मिशन के बाद बर्फ से ढूंढ निकाले गए।
 
0000



देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट)
उत्तराखंड से बुरी खबर मिली है। माउंट त्रिशूल पर हिमस्खलन की चपेट में आए नौसेना के 4 अधिकारियों की मौत हो गई है। चारों अधिकारियों के पार्थिव शरीर को 24 घंटे से भी ज्यादा लंबे चले सर्च मिशन के बाद बर्फ से ढूंढ निकाले गए।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शोक जताते हुए कहा, "त्रिशूल पर्वत पर भारतीय नौसेना के पर्वतारोहण अभियान का हिस्सा रहे चार नौसेना कर्मियों की दुखद मौत से गहरा दुख हुआ। इस त्रासदी में राष्ट्र ने न केवल अनमोल युवा बल्कि साहसी सैनिकों को भी खोया है।"

भारतीय नौसेना के मुताबिक, जिन अधिकारियों के शवों को ढूंढ निकाला गया हैं, उनमें लेफ्टिनेंट कमांडर रजनीकांत यादव, लेफ्टिनेंट कमांडर योगेश तिवारी, लेफ्टिनेंट कमांडर अनंत कुकरेती और मास्टर चीफ पैटी ऑफिसर (एमसीपीओ) हरी ओम शामिल हैं।

बता दें कि शुक्रवार को उत्तराखंड के कुमाउं क्षेत्र की माउंट त्रिशूल पर आए एवलांच में नौसेना के पांच अधिकारी और एक शेरपा (गाइड और हेल्पर) लापता हो गए थे। उस वक्त वे नौसेना के पांच अन्य अधिकारियों के साथ माउंट त्रिशूल पर पर्वतरोहण के लिए गए थे। नौसेना के पांच अधिकारी तो सुरक्षित बच गए थे लेकिन पांच अधिकारी और एक शेरपा फंस गए थे। चपेट में आने के तुरंत बाद ही थलसेना, वायुसेना और उत्तराखंड के स्टेट डिजास्टर रेस्कयू फोर्स (एसडीआरएफ) ने सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया था।

पिछले महीने यानि 3 सितंबर को नौसेना के 20 अधिकारियों और नौसैनिकों ने मुंबई से पर्वतरोहण की शुरूआत की थी। माउंट त्रिशूल की चढ़ाई के आखिरी दौर में सिर्फ 10 अधिकारी ही पहुंच पाए थे। नौसेना के मुताबिक, लापता अधिकारी और शेरपा के लिए सर्च ऑपरेशन अभी जारी रहेगा।

From around the web