उत्तराखंड से बड़ी खबर | CM धामी ने पलटा तीरथ सिंह रावत का बड़ा फैसला

मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने के बाद CM पुष्कर सिंह धामी ने पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत का बड़ा फैसला पलट दिया है। दरअसल, पूर्व सीएम तीरथ सिंह रावत अपने कार्यकाल के दौरान देहरादून स्थित मुख्यमंत्री आवास में ठहरे ही नही।
 
TIRATH DHAMI

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने के बाद CM पुष्कर सिंह धामी ने पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत का बड़ा फैसला पलट दिया है। दरअसल, पूर्व सीएम तीरथ सिंह रावत अपने कार्यकाल के दौरान देहरादून स्थित मुख्यमंत्री आवास में ठहरे ही नही। फिर उन्होंने सीएम आवास को कोविड केयर सेंटर के तौर स्थापित करने की घोषणा की।

अब CM पुष्कर सिंह धामी ने पूर्व सीएम का फैसला पलट दिया है यानि की अब मुख्यमंत्री आवास कोविड केयर सेंटर नहीं बनेगा। इतना ही नही मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मुख्यमंत्री आवास में रहने का फैसला भी किया है।

मुख्यमंत्री आवास मुख्यमंत्री के लिए तैयार हो रहा है। आवास पर साज सज्जा का काम शुरू हो गया है। मुख्यमंत्री कार्यालय के सूत्रों के मुताबिक, कुछेक दिन में मुख्यमंत्री धामी आवास में शिफ्ट हो जाएंगे।

आपको बता दें कि अपने कार्यकाल के दौरान तीरथ सिंह रावत ने सेफ हाउस से ही कामकाज किया और वह जीएमएस रोड स्थित निजी आवास पर ही रहे। बाद में उन्होंने सीएम आवास को कोविड केयर सेंटर के तौर स्थापित करने की घोषणा की। लेकिन अब CM धामी ने इस फैसले को पलट दिया है।

बता दें कि एक दशक पहले बनकर तैयार हुआ कैंट रोड स्थित मुख्यमंत्री का आधिकारिक आवास यहां रहने वाले मुख्यमंत्रियों के लिए मनहूस माना जाता है क्योंकि इसमें रहने वाला कोई भी मुख्यमंत्री अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर सका है।

विजय बहुगुणा से लेकर त्रिवेंद्र सिंह रावत तक यहां कोई मुख्यमंत्री अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर सका और उसकी समय से पहले ही पद से विदाई हो गई। माना जाता है कि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत भी इसी मिथक के कारण इस आवास में नही ठहरे। इसके बाद त्रिवेंद्र सिंह रावत की सत्ता भी इसी आवास में रहते हुए गयी। तीरथ सिंह रावत भी इस आवास में नही ठहरे लेकिन कुछ समय पहले उनकी सत्ता भी चली गयी।

आपको बता दें कि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री के आधिकारिक बंगले को पारंपरिक पहाड़ी स्टाइल में डिजाइन किया गया है। यह साल 2010 में तकरीबन 16 करोड़ रुपये की लागत से बना था। बंगला 10 एकड़ जमीन में फैला हुआ है।

From around the web