कोरोना के कहर के बीच डरावनी खबर, उत्तराखंड में मृत्यु दर राष्ट्रीय औसत से भी ज्यादा

उत्तराखंड में कोरोना तेजी से पैर पसार रहा है। सोमवार को प्रदेश भर में कोरोना के 5058 मामले सामने आए। इसी के साथ प्रदेश में कुल मरीजों की संख्या 156859 पहुंच गई है। वहीं 67 संक्रमित मरीजों की मौत हुई।

 
 
कोरोना के कहर के बीच डरावनी खबर, उत्तराखंड में मृत्यु दर राष्ट्रीय औसत से भी ज्यादा

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड में कोरोना तेजी से पैर पसार रहा है। सोमवार को प्रदेश भर में कोरोना के 5058 मामले सामने आए। इसी के साथ प्रदेश में कुल मरीजों की संख्या 156859 पहुंच गई है। वहीं 67 संक्रमित मरीजों की मौत हुई।

कोरोना के कहर के बीच एक डराने वाली खबर सामने आयी है। उत्तराखंड में लगातार कोरोना विस्फोट के बीच संक्रमितों की मौत के आंकड़ें तेजी से बढ़ रहे हैं। आंकड़ों के मुताबिक वर्तमान में उत्तराखंड में कोरोना मृत्यु दर राष्ट्रीय औसत दर से भी ज्यादा है। प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की मृत्यु दर 1.41 प्रतिशत है, जबकि राष्ट्रीय स्तर पर मृत्यु दर 1.13 प्रतिशत है। प्रदेश में पांच दिनों के भीतर प्रदेश में 250 कोरोना मरीजों ने दम तोड़ा है।

सोशल डवलपमेंट फॉर कम्युनिटी फाउंडेशन के अध्यक्ष अनूप नौटियाल का कहना है कि देश की आबादी में उत्तराखंड का हिस्सा करीब एक प्रतिशत है। लेकिन पिछले पांच दिनों में प्रदेश में हुईं मौतों के आधार पर मृत्यु दर राष्ट्रीय औसत से दोगुनी हो गई है।

नीचे दिए गए आंकड़े में जानें –

22 अप्रैल को 34 लोगों ने दम तोड़ा है, 23 अप्रैल को 19 की मौत हुई, 24 अप्रैल को 49 लोगों की मौत हुई। जबकी 25 अप्रैल को 81 लोगों की मौत हुई, जबकि 26 अप्रैल को 67 लोगों की मौत हुई है।

From around the web