उलटी दिशा में दौड़ी थी पूर्णागिरि जन शताब्दी एक्सप्रेस, रेलवे के 3 अधिकारी निलंबित

बीते बुधवार को दिल्ली से टनकपुर आ रही पूर्णागिरि जन शताब्दी एक्सप्रेस टनकपुर स्टेशन पर पहुंचने से 4 किलोमीटर पहले गाय के टकराने से 24 किलोमीटर उल्टी दौड़ पड़ी थी। खटीमा-चकरपुर के बीच गेट संख्या 35 के पास ट्रेन को रोकने में सफलता मिली। सही समय पर ट्रेन रुक गई वरना बड़ा हादसा हो सकता था।  इस मामले में रेलवे ने जांच बैठाई और बड़ा कदम उठाते हुए गार्ड, लोको व सहायक लोको पायलट को निलंबित कर दिया है।

 
उलटी दिशा में दौड़ी थी पूर्णागिरि जन शताब्दी एक्सप्रेस, रेलवे के 3 अधिकारी निलंबित

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) बीते बुधवार को दिल्ली से टनकपुर आ रही पूर्णागिरि जन शताब्दी एक्सप्रेस टनकपुर स्टेशन पर पहुंचने से 4 किलोमीटर पहले गाय के टकराने से 24 किलोमीटर उल्टी दौड़ पड़ी थी। खटीमा-चकरपुर के बीच गेट संख्या 35 के पास ट्रेन को रोकने में सफलता मिली। सही समय पर ट्रेन रुक गई वरना बड़ा हादसा हो सकता था।  इस मामले में रेलवे ने जांच बैठाई और बड़ा कदम उठाते हुए गार्ड, लोको व सहायक लोको पायलट को निलंबित कर दिया है।

दरअसल बुधवार को पूर्णागिरि जनशताब्दी एक्सप्रेस दिल्ली से टनकपुर की ओर आ रही थी। ट्रेन में 60 यात्री मौजूद थे। शाम करीब 4 बजे ट्रेन टनकपुर रेलवे स्टेशन के पास पहुंचने ही वाली थी कि स्टेशन से कुछ दूरी पहले एक गाय आ गई अचानक प्रेशर डाउन होने की वजह से ट्रेन उलटी दिशा में दौड़ने लगी। सूचना पर आनन-फानन क्रॉसिंग गेटों को बंद करने के आदेश दिए गए। बनबसा में पत्थर लगाकर ट्रेन रोकने की कोशिश की गई, लेकिन ट्रेन नहीं रुकी। ट्रेन करीब 24 किलोमीटर तक तेजी की रफ्तार से उलटी दिशा दौड़ती रही है, इसके बाद खटीमा-चकरपुर के बीच गेट संख्या 35 के पास ट्रेन को रोकने में सफलता मिली।

From around the web