उत्तराखंड | बेकाबू हो रही वनों की आग पर अमित शाह का बड़ा फैसला, दिए ये निर्देश

उत्तराखंड में जंगलों में लगी आग भयानक रूप लेती जा रही है। पिछले 24 घंटों के दौरान 39 जगह आग लगने से 62 हेक्टेयर इलाका राख हुआ है और 93 हजार रुपये तक का नुकसान हुआ है। जंगलों में बढ़ती आग को देखते हुए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने गृह मंत्री अमित शाह को उत्तराखंड के जंगलों में लगी भीषण आग की जानकारी दी थी। अब गृह मंत्री ने इस पर बड़ी मदद देने का भरोसा दिया है।
 
उत्तराखंड | बेकाबू हो रही वनों की आग पर अमित शाह का बड़ा फैसला, दिए ये निर्देश

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड में जंगलों में लगी आग भयानक रूप लेती जा रही है। पिछले 24 घंटों के दौरान 39 जगह आग लगने से 62 हेक्टेयर इलाका राख हुआ है और 93 हजार रुपये तक का नुकसान हुआ है। जंगलों में बढ़ती आग को देखते हुए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने गृह मंत्री अमित शाह को उत्तराखंड के जंगलों में लगी भीषण आग की जानकारी दी थी। अब गृह मंत्री ने इस पर बड़ी मदद देने का भरोसा दिया है।

गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट करते हुए कहा कि उन्होंने उत्तराखंड के जंगलों में आग के सम्बंध में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से बात कर जानकारी ली। गृह मंत्री अमित शाह ने बताया कि उन्होंने आग पर काबू पाने और जानमाल के नुकसान को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने तुरंत NDRF की टीमें और हेलिकॉप्टर उत्तराखंड सरकार को उपलब्ध कराने के निर्देश दे दिए हैं।


 


 

बता दें कि CM तीरथ ने गृह मंत्री से आग बुझाने के लिए हेलीकॉप्टर देने की मांग की थी और अब गृह मंत्री शाह ने आग बुझाने के लिए केंद्र से आग बुझाने के निर्देश दिए है। इससे पहले CM तीरथ ने ट्वीट करते हुए कहा कि प्रदेश में वनाग्नि की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए माननीय केंद्रीय गृह मंत्री अमीत शाह से बात कर उनसे आग बुझाने हेतु हेलिकॉप्टर और एनडीआरएफ़ के सहयोग हेतु अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि वनों की आग से न सिर्फ़ वन सम्पदा की हानि हो रही है बल्कि जन हानि और वन्य जीवों को भी नुक़सान हो रहा है। वनाग्नि की घटनाओं की गम्भीरता को देखते हुए तत्काल प्रदेश के वरिष्ठ अधिकारियों, वन विभाग, आपदा प्रबंधन विभाग और सभी ज़िलाधिकारियों की आपातक़ालीन मीटिंग बुलायी है।

CM ने कहा कि उत्तराखंड की वन सम्पदा सिर्फ़ राज्य ही नहीं पूरे देश की धरोहर है। हम इसे सुरक्षित और संरक्षित रखने के लिए कृत संकल्प हैं। उत्तराखंड में इस बार जाड़ों में वर्षा सामान्य से भी कम हुई है और इस कारण भी वनों में आग लगने की घटनाएँ तेजी से बढ़ रही हैं।

From around the web