उत्तराखंड : CM तीरथ का बड़ा फैसैला, भ्रष्टाचार का लगा आरोप तो अधिकारी को किया निलंबित

उत्तराखंड के सीएम तीरथ सिंह रावत अपने बड़े फैसलों को लेकर चर्चा में है। अब एक बार फिर CM तीरथ ने बड़ा फैसला लिया है।

 
उत्तराखंड : CM तीरथ का बड़ा फैसैला, भ्रष्टाचार का लगा आरोप तो अधिकारी को किया निलंबित

उधमसिंहनगर (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड के सीएम तीरथ सिंह रावत अपने बड़े फैसलों को लेकर चर्चा में है। अब एक बार फिर CM तीरथ ने बड़ा फैसला लिया है।

मुख्यमंत्री तीरथ ने एक बार फिर बड़ा एक्शन लेते हुए एक अधिकारी को निलंबित कर दिया है। शुक्रवार को मुख्यमंत्री के निर्देश पर उधम सिंह नगर में सहायक निबंधक हरीश चंद्र खण्डूड़ी को अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए सचिव सहकारिता द्वारा निलम्बित कर दिया है।

आपको बता दें कि हरीशचंद्र खंडूरी पर आरोप है कि उधम सिंह नगर की कई समितियों में नई नियुक्तियां संविदा पर अपने निजी स्वार्थ पूर्ति के लिए की गई।

इसके अलावा दक्षिणी सितारगंज समिति में एक ट्रक यूरिया खाद का गबन हुआ था जिसे स्टॉक में दर्ज ना करके सीधे नकद बिक्री कर दी गई। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा है कि भ्रष्टाचार बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। ईमानदार और पारदर्शी शासन राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है।

उधमसिंहनगर (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड के सीएम तीरथ सिंह रावत अपने बड़े फैसलों को लेकर चर्चा में है। अब एक बार फिर CM तीरथ ने बड़ा फैसला लिया है।

मुख्यमंत्री तीरथ ने एक बार फिर बड़ा एक्शन लेते हुए एक अधिकारी को निलंबित कर दिया है। शुक्रवार को मुख्यमंत्री के निर्देश पर उधम सिंह नगर में सहायक निबंधक हरीश चंद्र खण्डूड़ी को अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए सचिव सहकारिता द्वारा निलम्बित कर दिया है।

आपको बता दें कि हरीशचंद्र खंडूरी पर आरोप है कि उधम सिंह नगर की कई समितियों में नई नियुक्तियां संविदा पर अपने निजी स्वार्थ पूर्ति के लिए की गई।

इसके अलावा दक्षिणी सितारगंज समिति में एक ट्रक यूरिया खाद का गबन हुआ था जिसे स्टॉक में दर्ज ना करके सीधे नकद बिक्री कर दी गई। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा है कि भ्रष्टाचार बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। ईमानदार और पारदर्शी शासन राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है।

From around the web