उत्तराखंड | कम नहीं हुआ है कोरोना का खतरा, पहाड़ी जिलों से सामने आए चौंकाने वाले आंकड़े

उत्तराखंड में कोरोना की रफ्तार कुछ कम जरुर हुई है लेकिन राज्य में कोरोना का पॉजीटिविटी रेट अभी भी 10 फीसदी से ऊपर है। राज्य में पिछले हफ्ते (17-23 मई) के आंकड़ों के अनुसार पॉजीटिविटी रेट 10.31 फीसदी है।

 
Corona
 

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट)  उत्तराखंड में कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए राज्य सरकार ने प्रदेश में कोविड कर्फ़्यू को आगामी 1 जून तक बढ़ाने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के निर्देशों के बाद राज्य सरकार ने यह फैसला लिया है।

उत्तराखंड में कोरोना की रफ्तार कुछ कम जरुर हुई है लेकिन राज्य में कोरोना का पॉजीटिविटी रेट अभी भी 10 फीसदी से ऊपर है। राज्य में पिछले हफ्ते (17-23 मई) के आंकड़ों के अनुसार पॉजीटिविटी रेट 10.31 फीसदी है।

www.sdcuk.in के फाउंडर अनूप नौटियाल ने राज्य स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के आधार पर बीते हफ्ते (17-23 मई) के आंकड़ों का गहराई से विशलेषण कर बताया कि उत्तराखंड के 13 जिलों में से 8 जिलों में कोरोना का पॉजीटिविटी रेट 10 फीसदी से ज्यादा है जो चिंताजनक है। गौर करने वाली बात ये है कि पहाड़ी जिलों में कोरोना की संक्रमण दर मैदानी जिलों से ज्यादा है।

अनूप नौटियाल ने अपने ट्विटर पर इसका पूरा जिलेवार डाटा शेयर किया है। जिसे आप नीचे देख सकते हैं।


 

मतलब साफ है उत्तराखंड में कोरोना की कम होती रफ्तार को देखते हुए आपको लपरवाही नहीं बरतनी है। आपकी जरा सी लापरवाही पूरे परिवार पर भारी पड़ सकती है। इसलिए घर पर रहिए औऱ सुरक्षित रहिए तभी आप कोरोना से बचे रह सकते हैं।

From around the web