उत्तराखंड | हरक सिंह रावत बोले- त्रिवेंद्र बताएं कौन कौरव हैं, कौन पांडव ?

हरक सिंह रावत ने कहा- त्रिवेंद्र रावत बताएं कौन कौरव हैं और कौन पांडव हैं। क्या डोईवाला की जनता पांडव हो गई और हमारे रार्ष्टीय नेता कौरव हो गए क्या?"
 
उत्तराखंड | हरक सिंह रावत बोले- त्रिवेंद्र बताएं कौन कौरव हैं, कौन पांडव ?

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड में श्रम मंत्री हरक सिंह रावत ने पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। अब हरक सिंह रावत का कहना है, "हमें हल्की बयानबाजी से बचना चाहिए। त्रिवेंद्र रावत बताएं कौन कौरव हैं और कौन पांडव हैं। क्या डोईवाला की जनता पांडव हो गई और हमारे रार्ष्टीय नेता कौरव हो गए क्या?" हरक सिंह रावत का कहना है कि जब उन्हें कर्मकार कल्याण बोर्ड से बाहर किया गया था, तब भी कहा था मैं महाभारत का अभिमन्यु नहीं हूं जो अंतिम द्वार पर मारा जाऊं। ये भगवान का आर्शीवाद है, मेरी बात सही साबित हुई।

दरअसल, रावत ने पिछले हफ्ते ही अपने विधानसभा क्षेत्र डोईवाला में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा था कि उनके साथ छल हुआ है। रावत ने खुद को अभिमन्यु बताते हुए कहा कि कौरवों ने भले ही छल से अभिमन्यु को मारा हो, लेकिन द्रोपदी ने इस पर पश्चाताप नहीं किया था, बल्कि प्रतिकार किया था। त्रिवेंद्र रावत ने कार्यकर्ताओं से कहा कि उन्हें दु़:खी नहीं होना चाहिए, पांडवों की तरह प्रतिकार करना चाहिए। इस बयान के बाद भाजपा में हलचल शुरू हो गई। सवाल उठता है कि त्रिवेंद्र रावत किसका प्रतिकार करने की बात कह रहे थे।

आपको बता दें कि त्रिवेंद्र रावत सरकार में कर्मकार कल्याण बोर्ड से हरक सिंह रावत को बिना पूछे बाहर कर दिया गया थ।. उन्होंने इसकी शिकायत दिल्ली हाईकमान से की थी। हरक सिंह रावत की पीड़ा अब छलक रही है। त्रिवेंद्र रावत के आउट और तीरथ की एंट्री के बाद हरक एक बार फिर पूरे दबदबे में हैं। तीरथ रावत ने एक बार फिर कोटद्वार में हॉस्पिटल निर्माण के लिए धनराशि जारी कर दी है तो इधर, कर्मकार कल्याण बोर्ड से भी सीएम त्रिवेंद्र रावत द्वारा तैनात की गई सचिव दीप्ति सिंह को गुरुवार को हटा दिया गया है। उनकी जगह हरक की पसंदीदा अधिकारियों में एक उप श्रमायुक्त हरिद्वार में तैनात मधु नेगी चौहान को बोर्ड के सचिव का अतिरिक्त प्रभार सौंप दिया गया है।

From around the web