उत्तराखंड | शहीद अनंत कुकरेती का पार्थिव शरीर घर पहुंचा, 3 महीने पहले ही हुई थी शादी

बीते शुक्रवार को माउंट त्रिशूल पर हिमस्खलन की चपेट में आए नौसेना के 4 अधिकारियों की मौत हो गई थी। इनमें लेफ्टिनेंट कमांडर अंनत कुकरेती भी शामिल थे। सोमवार को लेफ्टिनेंट कमांडर अंनत कुकरेती का पार्थिव शरीर पहुंचा देहरादून स्थित गंगोत्री विहार आवास पर पहुंचा।
 
0000



देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट)
बीते शुक्रवार को माउंट त्रिशूल पर हिमस्खलन की चपेट में आए नौसेना के 4 अधिकारियों की मौत हो गई थी। इनमें लेफ्टिनेंट कमांडर अंनत कुकरेती भी शामिल थे। सोमवार को लेफ्टिनेंट कमांडर अंनत कुकरेती का पार्थिव शरीर पहुंचा देहरादून स्थित गंगोत्री विहार आवास पर पहुंचा।

बताया गया कि लेफ्टिनेंट कमांडर अंनत कुकरेती की तीन महीने पहले ही शादी हुई थी। लॉकडाउन के चलते शादी समारोह में कम लोगों को ही बुलाया गया था। जानकारी मिली है कि अनंत कुकरेती आखिरी बार तीन महीने पहले ही अपनी शादी में घर आए थे। शहीद अनंत ने आरआईएमसी से पास आउट होकर एनडीए परीक्षा पास की और इंडियन नेवी में उनका सलेक्शन हुआ। अनंत कुकरेती की पत्नी राधा मुंबई में एसबीआई में ऑफिसर है। इस हादसे की जानकारी मिलने के बाद से वह गहरे सदमे में हैं।  देहरादून के जोगीवाला, नत्थनपुर गंगोत्री विहार कॉलोनी स्थित जवान के घर पर मातम का माहौल है। आज सोमवार सुबह तकरीबन 10 बजे पार्थिव शरीर घर पर लाया गया. हरिद्वार में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

बता दें कि शुक्रवार को उत्तराखंड के कुमाउं क्षेत्र की माउंट त्रिशूल पर आए एवलांच में नौसेना के पांच अधिकारी और एक शेरपा (गाइड और हेल्पर) लापता हो गए थे। उस वक्त वे नौसेना के पांच अन्य अधिकारियों के साथ माउंट त्रिशूल पर पर्वतरोहण के लिए गए थे।

एवलांच में नौसेना के पांच अधिकारी तो सुरक्षित बच गए थे लेकिन पांच अधिकारी और एक शेरपा फंस गए थे। चपेट में आने के तुरंत बाद ही थलसेना, वायुसेना और उत्तराखंड के स्टेट डिजास्टर रेस्कयू फोर्स (एसडीआरएफ) ने सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया था। दो दिन की मशक्कत के बाद 4 नौसेना के अधिकारियों के पार्थिव शरीरों को रेस्क्यू किया गया।

From around the web