उत्तराखंड में मौसम ने बदली करवट, बारिश-बर्फबारी से बढ़ी ठंड

उत्तराखंड में एक बार फिर मौसम ने करवट बदली है। गुरुवार से राजधानी दून समेत राज्य के विभिन्न इलाकों में तड़के बारिश-बर्फबारी के साथ ही ओले पड़ने से मौसम का मिजाज अचानक बदल गया है।  
 
उत्तराखंड में मौसम ने बदली करवट, बारिश-बर्फबारी से बढ़ी ठंड

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड में एक बार फिर मौसम ने करवट बदली है। गुरुवार से राजधानी दून समेत राज्य के विभिन्न इलाकों में तड़के बारिश-बर्फबारी के साथ ही ओले पड़ने से मौसम का मिजाज अचानक बदल गया है।  

बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्रीधाम में जमकर बर्फबारी हो रही है। मसूरी शहर में देर रात से बारिश हो रही है। पिछले 3 दिनों से हर रोज हो रही बारिश से नई टिहरी, धनोल्टी सहित जिले के अन्य ऊंचाई वाले इलाकों में जबरदस्त ठंड भी बढ़ गई है। उत्तरकाशी, यमुनोत्रीघाटी मे सुबह से झमाझम बारिश हो रही है, ठंड भी बढ़ गई है। लगातार हो रही बारिश के कारण यमुनोत्रीधाम के खरशाली, नारायणपुरी, जानकीचट्टी, फूलचट्टी क्षेत्र में शुक्रवार को बर्फबारी हुई है।

अल्मोड़ा में गुरुवार रात से बारिश जारी है। ये बारिश का लगातार तीसरा दिन है। अभी भी बादल छाए हैं। तेज ठंडी हवाएं चल रहीं हैं। पिथौरागढ़ में धूप खिली है। चौखुटिया में रात से बारिश जारी है, कृषकों को गेंहू कटाई में दिक्कत हो रही है। रुद्रपुर में मौसम साफ है। नैनीताल में रात में बारिश थी, अभी बादल छाए हैं। लोहाघाट में बूंदाबादी हुई, चंपावत में बादल छाए हैं। द्वाराहाट में रात में जमकर बारिश हुई। अभी भी घने बादलों के साथ गर्जना व हल्की बारिश हो रही है।

इस अलावा यमुनोत्री एवं गंगोत्री धाम समेत उपला टकनौर क्षेत्र में बर्फबारी से ठंड बढ़ गयी है। बुधवार रात को भारी बर्फबारी और गुरुवार को ओले गिरने से उपला टकनौर क्षेत्र में सेब की फसल को भारी नुकसान पहुंचा।

केदारनाथ में डेढ़ फीट से अधिक बर्फ जम चुकी है, जिससे यहां हो रहे सभी पुनर्निर्माण कार्य ठप हो गए है। जबकि निचले इलाकों में बारिश से ठंड बढ़ गई है। रुद्रा प्वाइंट से केदारनाथ मंदिर से लेकर संपूर्ण केदारपुरी ने सफेद चादर ओढ़ ली है। द्वितीय केदार मद्महेश्वर, तृतीय केदार तुंगनाथ, चंद्रशिला समेत अन्य ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भी अच्छी बर्फबारी हुई है। मसूरी, धनोल्टी सहित आसपास के क्षेत्रों में गुरुवार को भी भारी ओलावृष्टि हुई है। धनोल्टी और मसूरी ओलों से पूरी तरह से सफेद हो गए।

From around the web