आज इस शुभ मुहूर्त में करें महालक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा ,जानें पूजन विधि

 
हिंदू धर्म में दीपावली का विशेष महत्व है। दीपावली में महालक्ष्मी की पूजा करने से परिवार में सुख एवं समृद्धि आती है।  
 
laxmi

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट ) हिंदू धर्म में दीपावली का विशेष महत्व है। दीपावली में महालक्ष्मी की पूजा करने से परिवार में सुख एवं समृद्धि आती है। 

हर साल कार्तिक मास की अमावस्या के दिन दिवाली का पावन पर्व मनाया जाता है। इस दिन मां लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा का विधान हैं। भगवान गणेश प्रथम पूजनीय देव हैं और माता लक्ष्मी को धन की देवी कहा जाता है। भगवान गणेश और माता लक्ष्मी की कृपा से जीवन सुखमय हो जाता है।

हिंदू धर्म में शुभ मुहूर्त में पूजा करने का बहुत अधिक महत्व होता है। शुभ मुहूर्त में पूजा करने से कई गुना अधिक फल की प्राप्ति होती है। इस बार लक्ष्मी पूजन के लिए सबसे शुभ काल 1 घंटे 55 मिनट का है। पूजा का विशेष मुहूर्त शाम को 6:05 से रात 8:16 तक रहेगा।

पूजा- विधि-

  • दीपावली के दिन गणेश-लक्ष्मी के पूजन के लिए सबसे पहले एक चौकी पर लाल रंग का आसन बिछा कर गणेश-लक्ष्मी की प्रतिमा स्थापित करें। ध्यान रहे कि लक्ष्मी जी की मूर्ति को श्री गणेश के दाहिने हाथ की तरफ स्थापित करना चाहिए।
  • इनके साथ भगवान कुबेर, मां सरस्वती और कलश की स्थापना करें। यदि घर में श्रीलक्ष्मी गणेश का चांदी का सिक्का और श्रीयंत्र भी हो तो उन्हें भी इसी आसान पर स्थापित करें।
  • पूजन के लिए फूल, मिठाई, खील, बताशे आदि रखें। लक्ष्मी गणेश के पूजन के लिए घी का एक दीपक बनाएं अन्य दीयों में सरसों के तेल का प्रयोग कर सकते हैं। सर्वप्रथम घी का दीया प्रज्वलित करें।
  • विधि- विधान से भगवान गणेश और माता लक्ष्मी की पूजा करें।
  • मां लक्ष्मी और भगवान गणेश का अधिक से अधिक ध्यान करें।
  • भगवान गणेश और मां लक्ष्मी की आरती जरूर करें।
  • आरती के बाद घर के सभी सदस्यों को प्रसाद दें।

From around the web