Uttrakhandpost 12 banner 1
Utkarshexpress 1234 banner 2

कोरोना संक्रमितों के खाते में 10 हजार ट्रांसफर करेगी सरकार, लेकिन पहले होगी ये जांच

अब बड़ी खबर मिली है कि दिल्ली सरकार की ओर से अब उन सभी मजदूरों और उनके परिवारों को 5 से ₹10000 अकाउंट में ट्रांसफर किए जाएंगे जो कोरोना पॉजिटिव हो गये हैं। दिल्ली सरकार इन सभी की RT-PCR रिपोर्ट  की जांच पड़ताल आईसीएमआर (ICMR) पोर्टल पर करेगी।
 
कोरोना संक्रमितों के खाते में 10 हजार ट्रांसफर करेगी सरकार, लेकिन पहले होगी ये जांच

नई दिल्ली (उत्तराखंड पोस्ट) देशभर में कोरोना का कहर जारी है। पिछले 24 घंटे में एक बार फिर देश में कोरोना का विस्फोट हुआ है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक बीते 24 घंटे में कोरोना के 3,62,757 नए मामले सामने आए हैं। वहीं  3,285 लोगों की कोरोना के चलते मौत हुई है।देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,79,88,637 हो गई है।

दिल्ली में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। राज्य में संक्रमित मरीजों की संख्या 98,000 को पार कर चुकी है। इन हालातों में सरकार ने पहले ही लॉकडाउन लगाया हुआ है। लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूर पलायन भी कर रहे हैं। उन सभी की समस्या को देखते हुए सरकार ने जहां हाल ही में निर्माण मजदूरों के अकाउंट में ₹5000 ट्रांसफर किये थे।

अब बड़ी खबर मिली है कि दिल्ली सरकार की ओर से अब उन सभी मजदूरों और उनके परिवारों को 5 से ₹10000 अकाउंट में ट्रांसफर किए जाएंगे जो कोरोना पॉजिटिव हो गये हैं। दिल्ली सरकार इन सभी की RT-PCR रिपोर्ट  की जांच पड़ताल आईसीएमआर (ICMR) पोर्टल पर करेगी। इस जांच पड़ताल करने के बाद सरकार इन सभी कोरोना पॉजिटिव मजदूरों के अकाउंट में आर्थिक सहायता राशि को अकाउंट में ट्रांसफर करेगी। दिल्ली सरकार के श्रम विभाग ने घोषणा की है कि इस महामारी में कोरोना पॉजिटिव हुए पंजीकृत निर्माण श्रमिकों और उनके परिवार वालों को चिकित्सकीय सहायता के रूप में 5 से 10 हजार रुपये की सहायता राशि दी जाएगी।

निर्माण श्रमिकों के RT-PCR रिपोर्ट की आईसीएमआर (ICMR) के पोर्टल पर जांच कर सहायता राशि को सीधे उनके खातों में भेजा जाएगा। ये सहायता राशि कोरोना काल के दौरान श्रमिकों के वित्तीय संकट को कम करने में मदद करेगी। दिल्ली सरकार ने प्रवासी, दिहाड़ी और निर्माण कार्यों में लगे श्रमिकों की अन्य जरूरतों के पूरा करने के लिए दिल्ली के सभी जिलों में कई स्कूलों और कंस्ट्रक्शन साइट्स पर 150 से अधिक फूड डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर भी शुरू कर दिए है। इन केंद्रों के माध्यम से अब तक लगभग 83 हजार फूड पैकेट बांटे जा चुके है।

दिल्ली सरकार ने कोरोना संकट के समय में प्रवासी, दिहाड़ी और निर्माण श्रमिकों की सहायता के लिए हमेशा तैयार है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी श्रमिकों और प्रवासियों से अपील की है कि वो दिल्ली न छोड़े क्योंकि दिल्ली सरकार उनके लिए सभी प्रकार की सहायता सुनिश्चित कर रही है।

From around the web