मुस्लिम युवती ने मंदिर में हिंदु प्रेमी संग लिए सात फेरे,खाईं साथ जीने-मरने की कसमें

 कहते हैं कि प्यार में मजहब, जाति, धर्म, अमीरी और गरीबी नहीं देखता । इसी बीच अलीगढ़ के बिजौली से मजहब की दीवार को तोड़कर एक सच्ची प्रेम कहानी सामने आई है जहां एक मुस्लिम लड़की ने हिंदू लड़के से मंदिर में हिन्दू रीति रिवाज के साथ शादी रचाई।
 
MSRRR

अलीगढ़ ( उत्तराखंड पोस्ट ) कहते हैं कि प्यार में मजहब, जाति, धर्म, अमीरी और गरीबी नहीं देखता । इसी बीच अलीगढ़ के बिजौली से मजहब की दीवार को तोड़कर एक सच्ची प्रेम कहानी सामने आई है जहां एक मुस्लिम लड़की ने हिंदू लड़के से मंदिर में हिन्दू रीति रिवाज के साथ शादी रचाई।

 ये पूरा मामला उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ के अतरौली इलाके के पालीमुकीमपुर के गांव बिजौली का है जहां पर जिला कासगंज की रहने वाली मुस्लिम धर्म की युवती ने हिंदु युवक के संग मंदिर में धर्म परिवर्तन कर शादी रचा ली।

मिली जानकारी के अनुसार जिला कासगंज निवासी निशा खान की फोन के जरिए, इलाके के गांव नगला बिजौली निवासी युवक अमित माहेश्वरी से दोस्ती हो गई. दोनों अलग-अलग समुदाय से ताल्लुक रखते हैं। उन दोनों के घर वाले भी शादी के लिए राजी नहीं थे लेकिन दोनों ने साथ जीने की कसमें खा लीं. युवती प्रेमी के घर पहुंच गई और साथ रहने को कहा. प्रेमी ने कहा कि वह उससे मंदिर में शादी करेगा. इसके लिए युवती भी राजी हो गई. ये शादी इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है.

 

From around the web